अंतिम वर्ष की एलएलबी परीक्षा पर समिति की सिफारिशों को बार काउंसिल ने किया मंजूर, विश्वविद्यालय और केंद्र तय करेंगे परीक्षा का प्रारूप!

अंतिम वर्ष की एलएलबी परीक्षा पर समिति की सिफारिशों को बार काउंसिल ने किया मंजूर, विश्वविद्यालय और केंद्र तय करेंगे परीक्षा का प्रारूप!

नयी दिल्ली, 10 जून (एजेंसी)

बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) ने अपनी एक समिति की इन सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है कि संसाधनों की उपलब्धता और कोविड-19 को लेकर मौजूदा हालात को ध्यान में रखते हुए संस्थानों को एलएलबी परीक्षाएं आयोजित करने की अनुमति दी जाए। बीसीआई ने बृहस्पतिवार को एक प्रेस वक्तव्य में कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस गोविंद माथुर की अध्यक्षता वाली समिति ने सिफारिश की है कि कानूनी शिक्षा प्रदान करने वाले प्रत्येक विश्वविद्यालय और केंद्र को संसाधनों की उपलब्धता और उस क्षेत्र में कोविड-19 के प्रभाव के आधार पर अपने विवेक से इंटरमीडिएट और अंतिम वर्ष के विधि छात्रों की परीक्षाएं करानी चाहिए। सभी विधि शिक्षण संस्थानों द्वारा अंतिम वर्ष की परीक्षा के आयोजन को अनिवार्य बताते हुए समिति ने कहा कि विश्वविद्यालय और केंद्र इस बारे में निर्णय लेने के लिये स्वतंत्र हैं कि परीक्षा ऑनलाइन, ऑफलाइन, ऑनलाइन ओपन बुक या असाइनमेंट अथवा शोधपत्र आदि में से किसी प्रारूप में कराई जाएगी। देश में विधि शिक्षण के नियामक के नाते बीसीआई ने महामारी के मद्देनजर इंटरमीडिएट सेमेस्टर परीक्षा, मूल्यांकन तथा प्रोन्नति के प्रारूप पर विचार-विमर्श के लिए विशेषज्ञों की उच्चस्तरीय समिति बनाई थी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

हरियाणा के सामाजिक पुनर्जागरण के अग्रदूत

हरियाणा के सामाजिक पुनर्जागरण के अग्रदूत

मुख्य समाचार

सुप्रीमकोर्ट ने सीबीएसई और आईसीएसई की 12वीं का रिजल्ट तैयार करने के फार्मूले पर लगायी मुहर

सुप्रीमकोर्ट ने सीबीएसई और आईसीएसई की 12वीं का रिजल्ट तैयार करने के फार्मूले पर लगायी मुहर

कहा-यदि विद्यार्थी परीक्षा देने के इच्छुक हैं तो दे सकते हैं