राजनीति में बाधा बना तो छोड़ दूंगा सिनेमा : कमल हासन

राजनीति में बाधा बना तो छोड़ दूंगा सिनेमा : कमल हासन

कोयंबटूर, 4 अप्रैल (एजेंसी)

अभिनय से राजनीति के क्षेत्र में आये और मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन ने रविवार को अपनी राजनीति को जनसेवा का माध्यम करार देते हुए कहा कि यदि सिनेमा उनके राजनीतिक करियर में बाधा बनता है तो वह उसे छोड़ने को तैयार हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘यदि वे मेरे राजनीतिक करियर में बाधा बनती हैं तो मैं अपनी मौजूदा फिल्मों को पूरा करने के बाद सिनेमा छोड़ दूंगा।’ उन्होंने कहा कि राजनीति में उनका आना ऐतिहासिक है क्योंकि वह उन 30 फीसद लोगों में से हैं जो राजनीति से बिल्कुल दूर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री एम जी रामचंद्रन ने बतौर विधायक अपने आदर्शों का प्रचार करने एवं जनसेवा के अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए कई फिल्मों में अभिनय किया था। हासन ने कहा कि लेकिन यदि सिनेमा (उनके राजनीतिक करियर में) बाधा बन रहा है तो वह जनसेवा की खातिर उसे छोड़ देंगे। उन्होंने कहा कि उनके कई साथी उम्मीदवार कहते हैं कि वह राजनीति से गायब हो जायेंगे और फिर से सिनेमा में आ जायेंगे। उन्होंने कहा, ‘हम देखते हैं कि कौन गायब होगा, यह तो जनता को तय करना है।’ उन्होंने कहा कि उन्हें कुछ वर्गों से धमकियां मिली हैं। हालांकि उन्होंने इसे स्पष्ट करने से इनकार कर दिया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!