एकदा

हिंसा से अहिंसा

हिंसा से अहिंसा

कलिंग का युद्ध जीतने के पश्चात सम्राट अशोक अभिमान में चूर होकर रणभूमि में अट्टहास कर रहे थे, ‘मैं विजेता हूं, मैंने कलिंग और कलिंग नरेश का घमंड चूर-चूर कर दिया है। मुझसे प्रश्न करने या मेरे प्रश्न का उत्तर देने के लिए अब कलिंग में कोई भी अभिमानी अब जीवित नहीं रहा।’ अचानक सामने से एक लड़की दौड़ी हुई आई और बोली, ‘आप भूल रहे है सम्राट! अभी मैं जीवित हूं।’ सम्राट अशोक ने पूछा, ‘कौन हो तुम और इस भयंकर युद्ध क्षेत्र में अकेली क्यों घूम रही हो?’ लड़की बोली, ‘मैं कलिंग नरेश की अभागिन पुत्री हूं और आपकी विजय पर यह उपहार आपको भेंट करने आयी हूं।’ यह कहकर लड़की ने सोने का थाल आगे कर दिया। सम्राट ने जैसे ही थाली से कपड़ा हटाया तो अवाक रह गया और थाली उसके हाथ से छूट गयी। थाली में एक दुधमुंहे शिशु का शव था। उन्हें अपनी भूल और युद्ध के भयंकर परिणाम का आभास हो गया। लड़की के इसी उपहास से लज्जित होकर सम्राट अशोक अहिंसा का पुजारी बन गया। प्रस्तुति : किरणपाल बुम्बक 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

हरियाणा के सामाजिक पुनर्जागरण के अग्रदूत

हरियाणा के सामाजिक पुनर्जागरण के अग्रदूत

मुख्य समाचार

गांवों में दी गयी 64% खुराकें

गांवों में दी गयी 64% खुराकें

कोरोना 21 जून की ‘ऐतिहासिक उपलब्धि’/ 89.09 लाख टीके लगे

केंद्र की सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे गुपकार नेता

केंद्र की सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे गुपकार नेता

पीएजीडी की बैठक के बाद फारूक की घोषणा

सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’

सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’

केंद्र सरकार की ‘गलतियों और कुप्रबंधन’ का उल्लेख

पवार के घर जुटे विपक्षी नेता

पवार के घर जुटे विपक्षी नेता

टीएमसी, सपा, आप और रालोद सहित कई पार्टियां शामिल