विद्यार्थियों को स्टेशनरी, आंसर शीट मूल्यांकन का करना होगा भुगतान

विद्यार्थियों को स्टेशनरी, आंसर शीट मूल्यांकन का करना होगा भुगतान

जोगिंद्र सिंह/ट्रिन्यू

चंडीगढ़, 16 सितंबर

पंजाब विश्वविद्यालय ने फाइनल ईयर की परीक्षा को लेकर डाउनलोड किये जाने वाली स्टेशनरी व आनलाइन मूल्यांकन के लिये पेमेंट तय कर दी गयी है। इस बार स्टेशनरी व पेपर डाउनलोड करने के लिये हर छात्र से 15 रुपये वसूले जायेंगे जबकि 15 रुपये आंसर शीट के मूल्यांकन के लिये भी अदा करने होंगे। इस संबंध में सभी संबद्ध कालेजों और पीयू के सभी विभागों को सूचना भेज दी गयी है। यह भुगतान कालेज और विभागों को व्यय संबंधी बिल जमा कराते समय करना होगा।

परीक्षा नियंत्रक प्रो. परविंदर सिंह ने बताया कि परीक्षा पूरी मानक प्रक्रिया के साथ करायी जा रही है जिसमें कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा ख्याल रखा जायेगा। उन्होंने बताया कि सभी परीक्षा केंद्रों के लिये नोडल अफसर भी तैनात कर दिये गये हैं। लेह-लद्दाख के लिए डीआर कालेज बीबी तलवार को नोडल अफसर बनाया गया है। इसी के साथ परीक्षाओं के संचालन के लिये सभी कालेजों/विभागों/रीजनल सेंटरों को अपना ईमेल आईडी अपने परीक्षा केंद्र पर रखना होगा जिस पर स्कैन की गयी पीडीएफ आंसर शीट भेजी जा सकेगी। आंसर शीट के मूल्यांकन के लिये नोडल अफसर/चीफ कोआर्डिनेटर/सेंटर सुपरिंटेंडेंट हर रोज आंसर शीट को प्रिंट कराने व डाउनलोड के लिये आवश्यक प्रबंध करेंगे। किसी विद्यार्थी की मेल में कोई त्रुटि होने पर दोबारा ईमेल भेजकर उसे रिपोर्ट किया जायेगा।

कालेजों/परीक्षा केंद्रों द्वारा एक आटो रिप्लाई फार्मेट तैयार करना होगा जो छात्रों को बता सके कि उनकी आंसर शीट मिल चुकी हैं। सेंटर सुपरिंटेंडेंट/नोडल अफसर हर रोज विषयवार और क्लासवाइज आंसर शीट अलग-अलग करेंगे और उन्हें मार्किंग के लिये टीचर्स को भेजेंगे। परीक्षक मूल्यांकन के बाद दिये गये परफोर्मा में अवार्ड लिस्ट सब्मिट करेगा और उसी के साथ आंसर शीट भी भेजेगा।

50 फीसदी प्रश्नों के ही देने होंगे जवाब

यूजी-पीजी के फाइनल सेमेस्टर के छात्रों की कल 17 सितंबर से होने जा रही आनलाइन परीक्षा में परीक्षार्थियों के लिये पेपर अटेम्पट करने का पैटर्न जारी किया गया है। कुल 10 या 11 सवालों में से किन्हीं पांच यानी 50 फीसदी के ही जवाब देने होंगे। अगर कुल पूछे गये प्रश्न 8 या 9 हैं तो उनमें से केवल चार ही हल करने होंगे। इसी तरह प्रश्नपत्र में सात या छह प्रश्नों के उत्तर मांगे गये हैं तो छात्र को तीन के ही उत्तर देने होंगे। अगर प्रश्नपत्र में सिर्फ 5 सवाल हैं तो किन्हीं दो के जवाब दे सकता है। पेपर की अवधि दो घंटे की होगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी