पंजाब सरकार की अनदेखी से हुई बड़ी घटना

पंजाब सरकार की अनदेखी से हुई बड़ी घटना

जीरकपुर में सोमवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए हलका विधायक एनके शर्मा। -निस

ज़ीरकपुर, 3 अगस्त (निस)

पंजाब के तीन जिलों अमृतसर, तरनतारन और गुरदासपुर में ज़हरीली शराब पीने के कारण हुई मौतों के तार डेराबस्सी और राजपुरा के कांग्रेस नेताओं के साथ भी जुड़े हुए हैं। राजपुरा में कांग्रेसी नेताओं की शह पर नकली शराब बनाने का धंधा ज़ोरों पर चल रहा है। यह बात विधायक एनके शर्मा ने सोमवार को यहां पत्रकारों के साथ बातचीत करते कही।

शर्मा ने कहा कि नकली शराब का यह धंधा कांग्रेस नेताओं की मिलीभगत के साथ हो रहा है। इस संगठित माफिया की तार राजपुरा और खन्ना की फ़र्ज़ी शराब फ़ैक्टरियों के साथ जुड़े हुए हैं जिन को चलाने वाले ख़ुद कांग्रेसी हैं। सरकार की अनदेखी से इतनी बड़ी घटना हो गयी।

मुख्यमंत्री नैतिक आधार पर इस्तीफा दें

लुधियाना (निस) : पंजाब में जहरीली शराब से 116 लोगों की दर्दनाक मौत तथा गंभीर अवस्था में अस्पताल में जिन्दगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे लोगों की जिम्मेदार कैप्टन अमरेंद्र सिंह सरकार है। यह कहना है भारतीय जनता पार्टी पंजाब प्रदेश के महामंत्री जीवन गुप्ता का। उन्होंने कहाकि इतने लोगों की भयानक मौत के जिम्मेदार मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह व पंजाब की कांग्रेस सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफ़ा दे देना चाहिए।

शराब तस्करों पर धावा, 8 गिरफ्तार

होशियारपुर (निस) : जिले में शराब के अवैध कारोबार पर जिला पुलिस ने रविवार को शिकंजा कस दिया। विशेष अभियान के तहत शराब तस्करों के खिलाफ 9 मामले दर्ज किए गए और 8 को गिरफ्तार कर उनसे 1259 लीटर शराब जब्त की गई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नवजोत सिंह माहल ने बताया कि पुलिस टीमों ने रविवार के अभियान के दौरान 457 लीटर अवैध शराब के साथ-साथ 802 लीटर तस्करी की शराब जब्त की है और आबकारी अधिनियम के तहत नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। अभियान के तहत दसूहा, टांडा, होशियारपुर और गढ़शंकर इलाकों में छापे मारे गये।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी