पीजीआई बढ़ते मरीजों से परेशान हैं डाक्टर

पीजीआई बढ़ते मरीजों से परेशान हैं डाक्टर

चंडीगढ़/पंचकूला, 3 अगस्त (नस)

चंडीगढ़ में पड़ोसी राज्यों से रेफर होकर आ रहे मरीज डाक्टरों के लिए मुसीबत बन गए हैं। पीजीआई में मरीजों की भीड़ को देखते हुए निदेशक डा. जगत राम ने प्रशासक पीवी सिंह बदनोर से अपील की है कि वे पंजाब, हरियाणा और अन्य राज्यों से रैफर किए जा रहे मरीजों को रोकने के लिए यह मुद्दा पड़ोसी राज्यों के साथ उठाएं। सोमवार को चंडीगढ़ में 43 मरीज संक्रमित पाए गए। बापूधाम कालोनी, बुड़ैल, मलोया, कजहेड़ी, सेक्टर 22, सेक्टर 56, मनीमाजरा और सेक्टर 35 में रह रहे परिवारों में संक्रमित पाए गए हैं। बुटरेला, सेक्टर 7, 20, रायपुर खुर्द, धनास सहित अन्य सेक्टरों में संक्रमित महिलाएं और पुरुषों को आईसोलेशन वार्ड में दाखिल करवाया।उधर, निदेशक डॉ. जगत राम ने प्रशासक वीपी सिंह बदनोर को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बताया कि उन्होंने 743 कोविद नमूनों का परीक्षण किया जिनमें से 65 पॉजिटिव पाए गए। इन पॉजिटिव नमूनों में 31 चंडीगढ़ के, 17 पंजाब के, 10 लेह लद्दाख के हैं और बाकी पड़ोसी राज्यों के हैं। उन्होंने यह भी कहा कि पीजीआई में 104 गंभीर मामले हैं जिनमें से 49 चंडीगढ़ के हैं 42 पंजाब, 5 हरियाणा और उत्तर प्रदेश के हैं। निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. जी. दीवान ने कहा कि उन्हें एंटीजन परीक्षण के लिए 5500 किट मिले हैं। इन किटों का उपयोग नमूनों के व्यापक परीक्षण के लिए किया जाएगा। विशेषकर स्वास्थ्य अधिकारियों, पुलिस कर्मियों, मंडी में विक्रेताओं के लिए किया जाएगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी