छह महीने बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें

उपचाराधीन लोगों की संख्या फिर 10 लाख से अधिक

छह महीने बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें

खौफ पर आस्था भारी... देशभर में कोरोना के मामलों में आये उछाल के बीच मथुरा के वृंदावन में बांके बिहारी मंदिर में शनिवार को उमड़े श्रद्धालु। -एजेंसी

नयी दिल्ली, 10 अप्रैल (एजेंसी)

देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड 1,45,384 नये मामले सामने आये हैं, जिसके बाद अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,05,926 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन लोगों की संख्या करीब साढ़े छह महीने बाद फिर से 10 लाख से अधिक हो गई। मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण 794 और लोगों की मौत हो गई, जो पिछले साल 18 अक्तूबर के बाद से किसी एक दिन की सर्वाधिक संख्या है। इस संक्रमण से अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,68,436 हो गई है। देश में संक्रमित लोगों की दैनिक संख्या लगातार 31वें दिन बढ़ी है। अभी 10,46,631 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है, जो अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या का 7.93 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित होने के बाद लोगों के स्वस्थ होने की दर और गिरकर 90.80 प्रतिशत रह गई है। देश में 12 फरवरी को सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज थे। यह संख्या उस समय के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थी। आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक 1,19,90,859 लोग संक्रमित होने के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और मामलों के लिहाज से कोविड-19 से मृत्यु दर 1.28 प्रतिशत है। देश में पिछले साल 7 अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

आईसीएमआर के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिन 794 लोगों की मौत हुई है, उनमें से महाराष्ट्र में 301, छत्तीसगढ़ में 91, पंजाब में 56, कर्नाटक में 46, गुजरात में 42, दिल्ली में 39, उत्तर प्रदेश में 36, राजस्थान में 32, मध्य प्रदेश एवं तमिलनाडु में 23-23, केरल में 22, झारखंड में 17 और आंध्र प्रदेश एवं हरियाणा में 11-11 लोग शामिल हैं। देश में संक्रमण से अब तक कुल 1,68,436 लोगों की मौत हो चुकी है।

पंजाब में 5 दिन के टीके बाकी : अमरेंद्र

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह ने शनिवार को कहा कि पंजाब में केवल 5 दिन का कोविड-19 रोधी टीके का भंडार बचा है और उन्होंने केन्द्र सरकार से टीके की आपूर्ति का कार्यक्रम साझा करने की अपील की है। सीएम ने कहा कि राज्य में प्रतिदिन 85,000 से 90,000 लोगों को टीके लग रहे हैं और इस दर से मौजूदा 5.7 लाख टीकों का भंडार 5 दिन में समाप्त हो जाएगा।

दिल्ली सरकार ने लगायी पाबंदियां

नयी दिल्ली (एजेंसी): दिल्ली सरकार ने कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर सभी तरह के सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है। राष्ट्रीय एवं वैश्विक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के उद्देश्य को छोड़कर दिल्ली में तरण ताल बंद रहेंगे। अंतिम संस्कार में 20 लोगों से अधिक के शामिल होने की इजाजत नहीं होगी, विवाह कार्यक्रम में 50 व्यक्ति तक शामिल हो सकेंगे। इसी के साथ दिल्ली में रेस्तरां, बार को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति रहेगी। दिल्ली में कॉलेज, कोचिंग संस्थान रहेंगे बंद। मेट्रो, डीटीसी एवं क्लस्टर बसें 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित होंगी। महाराष्ट्र से विमान से दिल्ली आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट जरूरी कर दी गयी है। रिपोर्ट न होने पर 14 दिवसीय पृथकवास में रहना होगा।

महाराष्ट्र में वीकेंड लॉकडाउन सड़कों व बाजारों में सन्नाटा

मुंबई : महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के दृष्िटगत सप्ताहांत पर लगाए गए लॉकडाउन को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है और मुंबई, पुणे, औरंगाबाद तथा नागपुर समेत राज्य के अधिकतर हिस्सों में सड़कें और बाजार सूने पड़े हैं। मुंबई के कुछ बाजारों समेत राज्य के कुछ स्थानों पर लोगों को एक ही जगह पर बड़ी संख्या में जमा होकर दूरी और अन्य नियमों को तोड़ते देखा गया। इस बीच कोविड टीके की किल्लत की खबरों के बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि महाराष्ट्र के पास 15.63 लाख खुराकें बची हुई हैं। इससे पहले महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा था कि राज्य के पास आठ लाख खुराकें उपलब्ध हैं।’

उद्धव ने दिये लॉकडाउन के संकेत

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में सख्त लॉकडाउन लगाने के संकेत दिये।

हरियाणा कोरोना से 11 की मौत, 2937 नये केस

चंडीगढ़ (ट्रिन्यू): हरियाणा में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मरीजों की संख्या 20 हजार को पार कर गई है। पिछले 24 घंटों के दौरान ही राज्य में कोरोना के 2937 नये पॉजिटिव केस सामने आए हैं।

सभी डॉक्टरों को लगवानी होगी वैक्सीन हरियाणा के उन डॉक्टरों, हेल्थ व फ्रंटलाइन वर्कर्स के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है, जिन्होंने अभी तक कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है। मेडिकल कॉलेजों के डॉक्टर इस मामले में सबसे अधिक लापरवाही बरत रहे हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी