फैशन

फुहारों में खूब फबेंगे चटख रंग

फुहारों में खूब फबेंगे चटख रंग

दीप्ति अंगरीश

टिप-टिप बरसता पानी और उसमें भीगना हर किसी को अच्छा लगता है। लेकिन साथ ही चिंता हो जाती है कपड़ों, मेकअप, हेयर स्टाइल की। यदि मानसून के मुताबिक पहनावे के लाइट फेब्रिक, चटख रंगों के साथ ही मेकअप की पहले से ही योजना बनाकर चलें तो स्टाइल भी बरकरार रहेगा और फुहारों का लुत्फ भी।

फुहारों के मौसम का आनंद बहुत है, लेकिन एहतियात भी काफी रखना होता है। अन्यथा रोज़ के कपड़े, मेकअप, स्टाइल...सब भीग जाएंगे बारिश में। ये सब चीजें आपका बाहरी व्यक्तित्व निखारते हैं। इसके लिए जरूरी है स्मार्ट योजना बनाने की व उस पर अमल करने की। इस सफर की शुरुआत मानसून पैकेज यानी वार्डरोब से लेकर स्टाइल में बदलावों से करनी बेहतर है।

ड्रेस में स्पेशल फैब्रिक

इस मौसम में कॉटन के कपड़ों को अलमारी के आखिरी रैक में रख दें। दरअसल, बारिश में भीगने पर कॉटन के कपड़े शरीर से चिपक जाते हैं और इन्हें सूखने में घंटों लगते हैं। ऐसे में जरूरी है उस फैब्रिक का चयन करना जो झीना नहीं हों और कॉटन जैसा आराम पहुंचाए। इनमें शिफॉन, नायलॉन या सिंथेटिक फैब्रिक शामिल हैं। बता दें कि ये तीनों फैब्रिक शरीर पर चिपकते नहीं हैं और जल्दी सूखते हैं। इस मौसम में डेनिम, रेयॉन, सिल्क, सैटिन व अन्य मोटे फैब्रिक का चयन नहीं करें तो बेहतर है।

वार्डरोब में हो रंगों की बहार

कभी ऐसा हो कि बारिश से मन बुझा-बुझा रहता हो। इसका कारण है कि कई बार जो आप सोचते हों, उसमें मौसम की मार पड़ जाती है। यानी मूड ऑफ। तो क्यों न इस मौसम में मूड को रंगों से रंगें। इसमें मददगार होंगे ब्राइट कलर्स, जैसे- ब्राइट पिंक, ब्लू, ऑरेंज, येलो आदि। कपड़ों में इन रंगों को ही महत्व दें। काले और सफेद कपड़ों को बिल्कुल नहीं पहनें क्योंकि इन पर लगा दाग उभरकर दिखता है। ऑफिस व दोस्तों के साथ ब्राइट कलर की टॉप व बॉटम पहनें। कुछ दिनों के लिए रेड और ऑरेंज कलर से दोस्ती कर लें।

इन्हें भी जगह दें

आप वेस्टर्न या इंडो वेस्टर्न पहनती हैं तो वार्डरोब में खास कपड़ों को जगह दें, जैसे- स्लीवलेस क्रॉप टॉप, लूज ट्राउजर्स, काफ्तान टॉप्स, फ्लेर्ड ड्रेस, मिडी ड्रेस, क्रैपी, ओवर साइज टीशर्ट और एंकल लेंथ पैंट। स्किन टाइट जींस इस मौसम में नहीं पहनें तो कंफर्ट रहेगा। यदि जींस भीग गई, तो बारिश और नमी आपको असहज महसूस करवाएगी।

कम से कम एक्सेसरीज

रोज आप स्टाइलिंग करती हैं, जिसमें एक्सेसरीज की अहम भूमिका है। इस मौसम में कुछ दिनों के लिए इनसे दूरी बना लें। सोचिए कहीं भीग गए, तो कितना असहज महसूस करेंगी आप। साथ ही स्किन एलर्जी भी हो सकती है। हैंडबैग वॉटर प्रूफ रखें। बैग में वैनिटी में वाइप्स जरूर रखें। बैग छोटे साइज का रखें। एक्सेसरीज से फैशनिस्टा बनना है, तो ब्राइट कलर्स और बड़े प्रिंट्स में रेन कोट व छतरी रखें।

जूतों के फैशन को ना

बारिश के मौसम में फ्लिप फ्लॉप्स या स्लिप ऑन सही रहते हैं। ये जल्दी सूख जाते हैं। यदि आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करती हैं, फिर तो ये उम्दा हैं। यदि ऑफिस आने-जाने के लिए कार का इस्तेमाल करती हैं, तो रेन बुटीज स्टाइल और कम्फर्ट के लिए उम्दा हैं। चाहें तो ऑफिस में अलग से वर्क शूज रखिए। आपको पता है कि ऑफिस पहुंचते-पहुंचते भीग जाएंगी, तो बैग में एक्स्ट्रा कपड़े और टॉवेल रखना ठीक है। इस मौसम मे बहुत चमक-दमक से तैयार नहीं हों। स्नीकर्स से भी बचें। लेदर शूज व सैंडल नहीं पहनें। मौसम चमक बिगाड़ेगा, साथ ही आपको असहजता देगा।

हैवी मेकअप से बचें

ब्यूटी एंड वेलनेस एक्सपर्ट रिचा अग्रवाल बताती हैं कि इस मौसम में आप स्किन केयर में क्लीनिंग, टोनिंग और मॉश्चराइजिंग नहीं भूलें व हैवी मेकअप से बचें। मेकअप न्यूट्रल रखें। कॉस्मेटिक वॉटरप्रूफ होने चाहिए, तभी भीगे मौसम में भी लंबे समय तक मेकअप टिका रहेगा। मैट लिपस्टिक या लिप बाम लगाकर वाटर प्रूफ लिप लाइनर से होंठों को शेप दें। आंखों के लिए वॉटर प्रूफ काजल, आईलाइनर व मस्कारा का प्रयोग करें। बालों को खुला छोड़ने की जगह टॉप नॉट या फ्रेंच जूड़ा बनाएं। इस मौसम में ब्लो ड्राइंग या स्टाइलिंग नहीं करवाएं। कारण चिपचिपा और भीगा मौसम बालों में सही बात आने नहीं देगा। रूखे-सूखे व चमक विहीन बालों से बचने के लिए सप्ताह में दो बार दही व अंडा बालों में लगाएं। यकीनन शाइन से आप अंदर-बाहर झूम उठेंगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

मुख्य समाचार

राजौरी में उड़ी जैसा हमला, 2 फिदायीन ढेर

राजौरी में उड़ी जैसा हमला, 2 फिदायीन ढेर

आतंकियों से लड़ते हुए हरियाणा के 2 जवानों सहित 4 शहीद

मुफ्त के वादे... सुप्रीम कोर्ट ने पूछे सियासी इरादे

मुफ्त के वादे... सुप्रीम कोर्ट ने पूछे सियासी इरादे

सभी पक्षों से 17 से पहले इस पहलू पर मांगे सुझाव

91 हजार के लिए स्वर्गधाम जा रही पेंशन!

91 हजार के लिए स्वर्गधाम जा रही पेंशन!

कैग रिपोर्ट में पकड़ा गया हरियाणा के सामाजिक न्याय विभाग का ...

शहर

View All