स्कूल में टीचर नहीं, 10 दिन बाद पेपर ! : The Dainik Tribune

स्कूल में टीचर नहीं, 10 दिन बाद पेपर !

अध्यापकों की कमी : कुंजपुरा ब्लाॅक के गांव घीड़ के बच्चों ने लगाया जाम

स्कूल में टीचर नहीं, 10 दिन बाद पेपर !

करनाल,19 सितंबर (हप्र)

अध्यापकों की कमी से जूझ रहे करनाल जिले के सरकारी स्कूलों के बच्चों ने अब रोष पदर्शन आरम्भ कर दिये हैं। कुंजपुरा ब्लाक के गांव घीड़ के बच्चों ने आज जाम लगाकर सरकार के प्रति रोष जताया।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं ने स्कूल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और रास्ता जाम कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार उनके स्कूल में अध्यापकों की संख्या पूरी करें, अन्यथा विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। छात्रा महिमा ने बताया कि वह 12वीं कक्षा में पढ़ती है, लेकिन स्कूल में बायो, इकोनॉमिक्स, मैथ की पोस्ट केंसिल हो गई है। छात्राओं ने कहा कि करीब दो माह से उनके स्कूल में टीचर नही हैं। उन्होंने कहा कि 10 दिन बाद उनके पेपर होने हैं, लेकिन अभी तक उनका सिलेबस ही पूरा नहीं हो पाया है। बच्चों के साथ सडक़ पर उतरे ग्रामीणों ने कहा कि सरकार बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। रोष प्रदर्शन में ग्रामीणों व स्कूली बच्चों ने करीब 2 घंटे तक करनाल घीड़ मार्ग पर जाम लगा कर रखा। जाम की सूचना पर पुलिस दल-बल के साथ मौके पर पहुंची और आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोल दिया।

इस बीच हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ जिला करनाल के प्रधान रमेश शर्मा चोचड़ा ने कहा कि ट्रांसफर ड्राइव में करनाल जिले के सैकड़ों स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी हो गई है। मिडिल और हाई स्कूलों में अध्यापक नाम मात्र के ही बचे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि जिले के गांव चोरकारसा, पिचोलिया, मधुबन, मुरादगढ़, भोजी खालसा, बयाना, जभाला, कुरलन, गुनियाना, उपलानी, पंगाला, अलावला, स्टोंडी, गागसीना, मुंड, पधाना, घीड ऐसे सैकड़ों स्कूल है जहां सिर्फ एक या दो अध्यापक कार्यरत हैं, इन स्कूलों में मुख्य विषय के अध्यापकों की भारी कमी है।

डीईओ बोले... जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी ने कहा कि 11वीं व 12 कक्षा कें विद्यार्थियों को थोड़ी समस्या थी। वह समस्या भी दूर कर दी गई है। स्कूल में अन्य तीन अध्यापक बच्चों को पढ़ाई करवाएंगे। अगर फिर भी कोई परेशानी आती है तो वहां पर अध्यापकों की नियुक्ति कर दी जाएगी।

‘25 को रोहतक में बनेगी अगली रणनीति’

रमेश शर्मा ने कहा कि सरकार की तानाशाही और स्कूलों को मर्ज करने के नाम पर बंद करने की नीति का पूरे हरियाणा में जोरदार विरोध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 25 सितंबर को रोहतक में संघ की कन्वेंशन है जिसमें आगामी आंदोलन की रुपरेखा तैयार होगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All