पढ़ाई के साथ मैदान और मंच भी महत्वपूर्ण : धूमल : The Dainik Tribune

पढ़ाई के साथ मैदान और मंच भी महत्वपूर्ण : धूमल

पढ़ाई के साथ मैदान और मंच भी महत्वपूर्ण : धूमल

हमीरपुर के गौतम कालेज में शुरू हो रहे हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के युवा महोत्सव का शुभारंभ करते पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल। -निस

हमीरपुर, 24 नवंबर (निस)

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने जिला मुख्यालय के गौतम कॉलेज में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित करवाए जा रहे युवा महोत्सव का शुभारम्भ करने के पश्चात उपस्थित प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि नौजवानों के व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास के लिए पढ़ाई के साथ-साथ मैदान और मंच भी जरूरी हैं। युवा महोत्सव 27 नवंबर तक चलेगा और इसमें प्रदेश के 25 कॉलेजों के छात्र भाग ले रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने युवा महोत्सव में भाग लेने के लिए आए हुए बाहर के सभी प्रतिभागियों, जजों और अधिकारियों का हमीरपुर आने पर स्वागत अभिनंदन किया। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि वह महोत्सव में नौजवान मित्र अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे और युवा महोत्सव में मौजूद जजों की अनुभवी परख से प्रतिभावान युवा सोना बनकर निकलेंगे। अपने संबोधन में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि नौजवानों में पढ़ने लिखने का काम तो होता ही है लेकिन व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास के लिए मैदान पर खेलों में भाग लेना और मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देना भी बहुत महत्व रखता है। केवल किताबें ही जीवन में सब कुछ नहीं सिखाती खेल के मैदान में भी हम कुछ सीखते हैं और मंच भी हमें कुछ सिखाता है। जीवन लगातार सीखने के लिए है। धूमल ने प्रतिस्पर्धा में भाग ले रहे प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दीं और विश्वास व्यक्त किया कि जो प्रतिभागी यहां विजेता बनेंगे उन्हें देखकर बाकी सब को सीखने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि जब मंच के ऊपर होश साथ जवानी का जोश मिलेगा और प्रदर्शन किया जाएगा तब इनाम भी मिलेंगे और सम्मान भी मिलेगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

साल के आखिर में नौकरी के नये मौके

साल के आखिर में नौकरी के नये मौके

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

मुख्य समाचार

फौलादी जज्बे से तोड़ दी मुसीबतों की बेड़ियां...

फौलादी जज्बे से तोड़ दी मुसीबतों की बेड़ियां...

अनहोनी को होनी कर दे...

हनोई में एक बौद्ध वृक्ष, जड़ें जुड़ी हैं भारत से!

हनोई में एक बौद्ध वृक्ष, जड़ें जुड़ी हैं भारत से!

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की बिसारी मधुर स्मृति को ताजा किया दैनि...

शहर

View All