सज्जा/बागवानी

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

इंडोर वाॅटर गार्डन से सजाएं घर

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

रजनी अरोड़ा

अमूमन हर किसी की ख्वाहिश होती है कि उसका घर हरे-भरे पौधों से सजा हो। लेकिन जगह की कमी और बिजी लाइफ स्टाइल के चलते देखभाल न कर पाने के कारण बागवानी का शौक अधूरा रह जाता है। लेकिन पानी में लगने वाले ऐसे कई इंडोर प्लांट भी हैं जिन्हें न तो ज्यादा देखरेख की जरूरत होती है, न ज्यादा जगह की। वाॅटर प्लांट घर की सजावट तो करते ही हैं, एयर प्योरिफाई करने का काम भी करते हैं। इनके लिए मिट्टी से भरे गमलों की भी जरूरत नहीं होती। आप इन्हें कांच या चीनी मिट्टी के पाॅट, जार, बोतल, वास, कप, बाॅक्स यहां तक कि खराब बल्ब में भी आसानी से लगा सकते हैं। घर को एनवायरन्मेंट फ्रेंडली बनाने के साथ ही पौधों के शौक को भी पूरा कर सकते हैं।

जरूरी टिप्स

इनके लिए ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं करने पड़ेंगे, कलम से इन्हें लगा सकते हैं। आप छोटे-छोटे कंकड़-पत्थरों को रंग-बिरंगे ऑयल पेंट में रंग कर जार में डाल सकते हैं। ये पत्थर पौधों को स्थिर रखने में भी मदद करेंगे। पौधे पर दो-तीन दिन में ऊपर से स्प्रे करें ताकि इनके पत्तों पर धूल-मिट्टी न जमे और उनमें नमी बनी रहे।

कोलियस-रंग-बिरंगी पत्तियों के कारण यह आकर्षक पौधा है। कटिंग से उगने में एक महीना लग जाता है। गर्म तापमान में जल्दी विकसित होता है, इसलिए खिड़की के पास रखना बेहतर है।

फिलोडैन्ड्रोन

इसके पत्ते मनीप्लांट की तरह बड़े और अलग-अलग आकार में कटे हुए होते हैं। इस पौधेे को ज्यादा देखरेख की जरूरत नहीं होती। घर के तापमान के हिसाब से खुद को एडजस्ट कर लेता है। कटिंग में 4-5 नोड्स लें और लगाते समय नीचे की पत्तियां निकाल कर लगाएं। 10-15 दिन तक पानी बदलने की भी ज़रूरत नहीं होती, लेकिन पानी कम हो जाए तो पानी डालना न भूलें।

पीस लिली

सुंदर फूल वाला यह पौधा आसानी से पानी में लगा सकते हैं। कटिंग लगाने से पहले अच्छी तरह धो लें। नीचे की पत्तियां और खराब जड़ें हटा दें। छांव में बढ़ने वाला इसके पाॅट को खिड़की के पास रखें। सप्ताह में 2 बार पानी बदलें।

इंगलिश आइवी

यह छांव में आसानी से लग जाता है और हरियाली से सबको आकर्षित करता है। इसे पानी वाले हैंगिंग पाॅट में भी लगा सकते हैं। कटिंग के निचले हिस्से से पत्तियां हटाकर लगाएं। फिल्टर वाॅटर में लगाएं। पाॅट रूम टैम्परेचर में रखें। सप्ताह में एकाध दिन खिड़की के पास या बाल्कनी मंे छांव में रखें।

मनी प्लांट

 यह कई वैराइटी के होते हैं- छोटे-बड़े पत्तों वाला, गहरे हरे-हल्के पीले रंगों वाला। कटिंग में 2-3 नोड्स जरूर हों। जड़ से आधा इंच ऊपर और नीचे काटें ताकि जड़ें आसानी से निकल सकें। लगाते समय ध्यान रखें कि पत्तियां पानी में न जाएं, वरना वो सड़ने लगेंगी। अपने वाॅटर पाॅट को खिड़की के पास या ऐसी जगह रखें जहां इसे थोड़ी धूप और हवा मिलती रहे। सप्ताह में दो बार पाॅट का पानी जरूर बदलें ताकि इसे फ्रेश ऑक्सीजन और मिनरल मिलें। घना करने के लिए नियमित कटिंग करें।

लकी बैम्बू

यह वाॅटर लिली की एक प्रजाति है जिसे घर के अंदर छांव वाली जगह लगाया जाता है। सीधी धूप में न रखें, इसकी पत्तियां जल जाती हैं। फ्लोराइड और क्लोराइड जैसे रसायनों के प्रति संवेदनशील होने के कारण इसमें आरओ या एक्वागार्ड का फिल्टर पानी ही डालना चाहिए। ऊपर से बढ़ने पर इसकी छंटाई करते रहें।

स्नेक प्लांट 

हालांकि स्नेक प्लांट की कटिंग को उगने में एक महीने से ज्यादा समय लग जाता है, लेकिन इसके एक बड़े पत्ते से 2-3 कटिंग आसानी से लगाई जा सकती हैं। पत्ता नीचे से सीधा काटें और निचले हिस्से को छोटे जार में लगाएं। जार में केवल 1-2 इंच पानी ही लें जिसे 8-10 दिन में बदलते रहें। पानी दो दिन में ऊपर से स्प्रे करके दें। जब जड़े अच्छी तरह बनने लगे, तो इसे बड़े जार में लगा लें। सीधी धूप से बचाकर रखें।

पर्पलहार्ट प्लांट

हार्ट शेप की पर्पल पत्तियों वाला यह पौधा आसानी से पानी में उगाया जा सकता है। इस पर पिंक रंग छोटे-छोटे फूल इसकी खूबसूरती बढ़ाते हैं। 2-4 इंच की कटिंग से लगाया जा सकता है जिन्हें सुबह या शाम के समय काटना बेहतर है।

एरोहेड/सिंगोनियम प्लांट

इसका छोटा पौधा बोतल या फ्लाॅवर पाॅट में लगा सकते हैं। कटिंग से लगाते हुए ध्यान रखें कि उसमें नोड्स जरूर हों। इसे नल के पानी में लगाया जा सकता है।

चायनीज एवरग्रीन

यह सदाबहार पौधा है। इसे हल्की धूप की जरूरत होती है। खिड़की के पास रखें। हर हफ्ते पानी बदलें। कोशिश करें कि रात का रखा पानी डालें ताकि क्लोरीन के प्रति सेंसेटिव यह पौधा खराब हो सकता है।

स्पाइडर प्लांट

यह बारहमासी पौधा है और पानी में भी आसानी से उग जाता है। ध्यान रखें कि सिर्फ जड़ें ही पानी के अंदर हों, वरना पत्तियां सूख सकती हैं। इसके तने से नयी जड़ें भी बन जाती हैं जिससे नया पौधा लगा सकते हैं। इन्हें हैंगिंग पाॅट में भी लगा सकते हैं जो बेहद आकर्षक लगते हैं।

वंडरिंग ज्यू प्लांट

यह इंडोर प्लांट भी है जोे पानी में आसानी से लग जाता है। 3-6 इंच लंबी कटिंग की नीचे की पत्तियों को काट कर पानी में उगाया जा सकता है। हैंगिंग बास्केट में यह बहुत सुंदर लगता है। यह बहुत जल्दी बढ़ता है। थोड़ी-सी धूप की जरूरत होती है। इसलिए खिड़की के पास रखना बेहतर है। सप्ताह में दो बार पानी बदल देना चाहिए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शहर

View All