कोरोना का वैक्सीन

रूस ने किया रजिस्ट्रेशन, पुतिन की बेटी को लगा टीका

रूस ने किया रजिस्ट्रेशन, पुतिन की बेटी को लगा टीका

मॉस्को, 11 अगस्त (एजेंसी)

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि देश में विकसित कोरोना वैक्सीन का पंजीकरण कर लिया गया है और एक वैक्सीन उनकी बेटी को पहले ही लगाया जा चुका है। पुतिन ने मंगलवार को कहा कि वैक्सीन परीक्षण में खरा उतरा है और यह परीक्षण के आवश्यक चरणों से गुजरा है। उनकी 2 बेटियों में से एक को वैक्सीन दिया गया है और वह अच्छा महसूस कर रही है। ‘स्पुतनिक न्यूज’ के अनुसार पुतिन ने एक सरकारी बैठक में कहा कि वैक्सीन को स्वास्थ्य मंत्रालय से मंजूरी मिल गयी है।

अधिकारियों के अनुसार वैक्सीन सबसे पहले चिकित्साकर्मियों, शिक्षकों और जोखिम की जद वाले समूहों से जुड़े लोगों को लगाया जाएगा। वैसे दुनिया के अनेक वैज्ञानिक इस कदम को संदेह की दृष्टि से देख रहे हैं और तीसरे चरण के परीक्षण से पहले वैक्सीन का पंजीकरण करने के निर्णय पर सवाल उठा रहे हैं। तीसरे चरण का परीक्षण आम तौर पर हजारों लोगों पर महीनों तक चलता है।

रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा है कि कोरोना वायरस के खिलाफ पहले वैक्सीन का उत्पादन दो स्थानों -गमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट और बिनोफार्म कंपनी में शुरू होगा। कई देश पहले ही इस वैक्सीन को लेकर अपनी रुचि दिखा चुके हैं।

ब्रिटेन नहीं देगा अपने नागरिकों को रूसी वैक्सीन

रूस ने जहां वैक्‍सीन लॉन्‍च कर दी है, वहीं अभी कई देश कोरोना टीकों का ट्रायल कर रहे है। अमेरिका, ब्रिटेन, इस्रायल, जापान, चीन और भारत समेत कई देशों में वैक्‍सीन के क्लीनिकल ट्रायल चल रहे हैं। 5 वैक्‍सीन ट्रायल की आखिरी स्‍टेज में पहुंच चुकी हैं । यूके ने साफ कहा है कि वह अपने नागरिकों को रूसी वैक्‍सीन की डोज नहीं देगा। पश्चिमी देशों और डब्ल्यूएचओ ने चिंता जताई है कि बिना पर्याप्‍त डेटा के रूस की वैक्‍सीन सप्‍लाई करना ठीक नहीं होगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश