आतंकवाद के गढ़ से व्याख्यान सुनने की जरूरत नहीं

आतंकवाद के गढ़ से व्याख्यान सुनने की जरूरत नहीं

जिनेवा, 16 सितंबर (एजेंसी)

पाकिस्तान को आतंकवाद का गढ़ करार देते हुए भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में उसे तीखा जवाब दिया है। परिषद के 45वें सत्र में पाकिस्तान के वक्तव्यों पर ‘उत्तर देने का अधिकार’ इस्तेमाल करते हुए भारतीय प्रतिनिधि ने मंगलवार को कहा कि किसी को भी ऐसे देश से मानवाधिकारों पर बेवजह व्याख्यान सुनने की आवश्यकता नहीं है, जो खुद हिंदुओं, सिखों और इसाइयों सहित अपने अल्पसंख्यकों पर लगातार जुल्म कर रहा है। जो आतंकवाद का गढ़ है, जिसने संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधित सूची में डाले गए व्यक्तियों को पेंशन दी हो और जिसके पास एक ऐसा प्रधानमंत्री है जो जम्मू-कश्मीर में लड़ने के लिए हजारों आतंकवादियों को प्रशिक्षित करने की बात गर्व से स्वीकार करता है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

आईपीएल आज से

आईपीएल आज से

टूटने लगा है बच्चों का सुरक्षा कवच

टूटने लगा है बच्चों का सुरक्षा कवच

उगते सूरज के देश में उगा सुगा

उगते सूरज के देश में उगा सुगा

शहर

View All