रोनाल्डो के रिकॉर्ड गोल के बाद घाना के कोच ने अमेरिकी रैफरी की जमकर की आलोचना : The Dainik Tribune

रोनाल्डो के रिकॉर्ड गोल के बाद घाना के कोच ने अमेरिकी रैफरी की जमकर की आलोचना

रोनाल्डो के रिकॉर्ड गोल के बाद घाना के कोच ने अमेरिकी रैफरी की जमकर की आलोचना

क्रिस्टियानो रोनाल्डो पेनल्टी लेते हुए। रैफरी के पैनल्टी के फैसले की घाना कोच ने कड़ी आलोचना की।-एपी/प्रेट्र

दोहा, 25 नवंबर (एपी)

घाना के कोच ओटो एडो ने पेनल्टी देने के लिये अमेरिकी रैफरी की आलोचना की जिस पर क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने विश्व कप में रिकॉर्ड गोल दागकर पुर्तगाल को 3-2 से जीत दिलायी। एडो ने इस पेनल्टी को ‘एक विशेष तोहफा' करार दिया। रोनाल्डो ने गुरुवार को मैच के दूसरे हाफ में पेनल्टी हासिल कर इसे गोल में तब्दील किया जिससे वह पांच विश्व कप में गोल करने वाले पहले पुरूष खिलाड़ी बन गये। एडो ने कहा, ‘‘अगर कोई एक गोल करता है तो उसे बधाई। लेकिन यह तो वास्तव में एक तोहफा ही था। वास्तव में एक भेंट।' उन्होंने कहा, ‘मैं और क्या कह सकता हूं? यह विशेष तोहफा रैफरी की ओर से था।' एडो ने बिना किसी इशारे के सीधे ही अमेरिकी रैफरी इस्माइल एलफाथ की आलोचना की जिससे वह फीफा द्वारा मुश्किल में पड़ सकते हैं। जब उनसे घाना की करीबी हार के बारे में पूछा गया तो उनका जवाब था, ‘‘रैफरी।' उन्हें लगता है कि घाना के डिफेंडर मोहम्मद सालिसू ने ‘फाउल' नहीं किया था और उन्होंने यह भी शिकायत की कि मैच अधिकारियों ने यह सुनिश्चित करने के लिये ‘वीएआर' का भी इस्तेमाल नहीं किया। ऐसा लग रहा था कि सालिसू की जांघ का रोनाल्डो के पैर से हल्का सा संपर्क हुआ था जिसके बाद पुर्तगाल का कप्तान मैदान पर गिरकर लेट गया था। एडो ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह सचमुच गलत फैसला था।’

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

साल के आखिर में नौकरी के नये मौके

साल के आखिर में नौकरी के नये मौके

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

मुख्य समाचार

फौलादी जज्बे से तोड़ दी मुसीबतों की बेड़ियां...

फौलादी जज्बे से तोड़ दी मुसीबतों की बेड़ियां...

अनहोनी को होनी कर दे...

हनोई में एक बौद्ध वृक्ष, जड़ें जुड़ी हैं भारत से!

हनोई में एक बौद्ध वृक्ष, जड़ें जुड़ी हैं भारत से!

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की बिसारी मधुर स्मृति को ताजा किया दैनि...

शहर

View All