सफल स्ट्राइकर होने के लिए ‘छठी इंद्री' का होना जरूरी : भूटिया

सफल स्ट्राइकर होने के लिए ‘छठी इंद्री' का होना जरूरी : भूटिया

नयी दिल्ली, 1 अगस्त (एजेंसी)

महान भारतीय फुटबॉलर बाईचुंग भूटिया ने कहा कि सभी स्ट्राइकरों को नियमित रूप से गोल करने के सही मौके तलाशने के लिए ‘छठी इंद्री' को विकसित करना होगा। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) टेलीविजन से बात करते हुए भूटिया ने कहा कि स्ट्राइकर तभी सफल हो सकता है, जब वह गोल करने के मौके को सही तरीके से परख सके। भारत के लिए 100 मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी बनने वाले भूटिया ने कहा, ‘यह उस छठी इंद्री के बारे में है। आपको यह पता करने की जरूरत है कि मौका कहा से बन रहा है। दुनिया के सबसे अच्छे स्ट्राइकरों में यह समझदारी हैं।' इस 43 साल के पूर्व खिलाड़ी ने कहा, ‘आपको स्थितियों को पढ़ने आना चाहिए। जब तक आप अपनी छठी इंद्री विकसित नहीं करते, आप एक सफल स्ट्राइकर नहीं होंगे।' भारत के लिए 104 मैचों में 40 गोल करने वाले भूटिया ने कहा, ‘आप 10 मौके में से एक या दो बार ही गोल करने में सफल होते है ऐसे में आपको जो भी मौका मिले उसमें पूरा जोर लगाना होता है।'

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

किसान के बेटे की प्रेरणादायी कामयाबी

किसान के बेटे की प्रेरणादायी कामयाबी

संसदीय लोकतंत्र की गरिमा का प्रश्न

संसदीय लोकतंत्र की गरिमा का प्रश्न

मुख्य समाचार

ठीक होने वालों की दर 68.32%

ठीक होने वालों की दर 68.32%

देश में कोरोना मामले 20.88 लाख के पार। एक दिन में 61537 नये ...

ब्लैक बॉक्स मिला, जांच शुरू

ब्लैक बॉक्स मिला, जांच शुरू

कोझिकोड विमान हादसा : मृतक संख्या हुई 18, एक यात्री को था को...

भाजपा के कुछ विधायक ‘तीर्थाटन’ पर गये गुजरात

भाजपा के कुछ विधायक ‘तीर्थाटन’ पर गये गुजरात

‘बाड़ेबंदी’ करने जैसी स्थिति से पार्टी का इनकार, कहा- कांग्र...