बाल कविता

हुनर की चिड़िया

हुनर की चिड़िया

घोंसला बटुए सा सुन्दर

दर्जिन चिड़िया करे तैयार

उसके पास न सुई धागा

न कोई औज़ार

पत्तोँ के सिर जोड़े

छेद किये धागा डाला

आकार में दिसे घोंसला

बटुया है या प्याला

गौरैया से छोटी दर्जिन

जैतुनी सा रंग हरा

बड़ी मेहनती बड़ी निडर

कारीगर जैसा नख़रा

गोल पंख छोटे दर्जिन के

लंबी पूछ दिखलाती

कीट पतंगे अंकुरित पौधे

रस पीती दाने खाती

बागानो में खलिहानों में

देखेंगे इस की कारीगरी

पत्तों को कैसे सीती

छुटकी सी दर्जिन प्यारी

- हरि कृष्ण मायर

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

मुख्य समाचार

राजौरी में उड़ी जैसा हमला, 2 फिदायीन ढेर

राजौरी में उड़ी जैसा हमला, 2 फिदायीन ढेर

आतंकियों से लड़ते हुए हरियाणा के 2 जवानों सहित 4 शहीद

मुफ्त के वादे... सुप्रीम कोर्ट ने पूछे सियासी इरादे

मुफ्त के वादे... सुप्रीम कोर्ट ने पूछे सियासी इरादे

सभी पक्षों से 17 से पहले इस पहलू पर मांगे सुझाव

91 हजार के लिए स्वर्गधाम जा रही पेंशन!

91 हजार के लिए स्वर्गधाम जा रही पेंशन!

कैग रिपोर्ट में पकड़ा गया हरियाणा के सामाजिक न्याय विभाग का ...

शहर

View All