प्रदेश में बीपीएल परिवारों की बढ़ाएंगे आमदनी : खट्टर

प्रदेश में बीपीएल परिवारों की बढ़ाएंगे आमदनी : खट्टर

रोहतक में बृहस्पतिवार को डा. मंगल सेन शोधपीठ की ओर से आयोजित कार्यक्रम की शुरुआत करते सीएम मनोहर लाल खट्टर। -हप्र

रोहतक, 2 दिसंबर (हप्र)

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि डॉ. मंगल सैन के अंत्योदय के सपने को साकार करते हुए प्रदेश सरकार का प्रयास बीपीएल परिवारों की आमदनी बढ़ाकर उन्हें एपीएल श्रेणी में लाना है, जिससे वे अपनी मेहनत व लगन से आजीविका कमा सके। प्रदेश सरकार द्वारा अंतिम पंक्ति में खड़े परिवारों के उत्थान के लिए योजना शुरू की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत एक लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले लगभग साढ़े 3 लाख परिवारों को चिन्हित किया गया है, जिन्हें विशेष मेलों के माध्यम से कल्याणकारी योजनाओं का मौके पर लाभ प्रदान करके उनकी आमदनी को 2 लाख रुपये तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है। प्रदेश में 25 दिसंबर तक ऐसे मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय स्थित राधाकृष्णन सभागार में हरियाणा के पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. मंगल सैन की 31वीं पुण्यातिथि पर डॉ. मंगल सैन के विचारों पर आधारित सैद्धांतिक राजनीतिक के पथिक नामक पुस्तक के विमोचन समारोह में बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में ढाई करोड़ की लागत से डॉ. मंगल सैन बहु वैकल्पिक हॉल के नवीनीकरण कार्य का उद्घाटन एवं लगभग 8.50 करोड़ रुपये की राशि से बनने वाले कबड्डी हॉल का शिलान्यास किया।

उन्होंने कहा कि डॉ. मंगल सेन ने हमेशा समाज सेवा में अपना जीवन लगाया। उन्होंने देश के विभाजन के बाद विस्थापित होकर आये लोगों की कैंपों में जाकर सेवा की व उन्हें दवाइयां दीं। उन्होंने प्रदेशवासियों का आह्वान किया कि वे डॉ. मंगल सैन के जीवन को पढ़ें तथा उनसे परोपकार की भावना व समाज सेवा की भावना ग्रहण करें। कार्यक्रम में सांसद डा. अरविन्द शर्मा ने डा. मंगल सेन को ईमानदारी और सादगी की मिशाल कहा। उन्होंने कहा कि डा. मंगल सेन का सेवा भाव तथा अंतिम व्यक्ति को न्याय दिलाने के प्रयास प्रेरणादायी हैं। इस मौके पर मनीष ग्रोवर, मदवि कुलपति प्रो. राजबीर सिंह, प्रो. लवलीन मोहन, प्रो. गुलशन लाल तनेजा, डा. रवि प्रभात मौजूद रहे। 

स्वास्थ्य सेवाओं का किया जा रहा विस्तार 

सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य आदि सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। सरकार द्वारा सभी 22 जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का निर्णय लिया गया है, जिसके तहत अब तक 19 जिलों में यह मेडिकल कॉलेज या तो स्थापित हो चुके हैं या फिर उनकी प्रक्रिया जारी है। उन्होंने कहा कि अन्य 3 जिलों में भी मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की जायेगी। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अन्न जैसा मन

अन्न जैसा मन

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

एकदा

एकदा

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया