ऑनलाइन ठग गिरोह का पर्दाफाश, 3 सदस्य काबू

ऑनलाइन ठग गिरोह का पर्दाफाश, 3 सदस्य काबू

रोहतक, 18 जनवरी (निस)

पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा की टीम ने दोस्त व रिशतेदार बनकर रुपये हड़पने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए गिरोह के 3 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने आरोपियों को पेश अदालत कर रिमांड पर लिया है। पुलिस द्वारा समय-समय पर साइबर ठगों से सावधान रहने के बारे में एडवाइजरी जारी की है। आर्थिक अपराध शाखा प्रभारी निरीक्षक नरेश कुमार ने बताया कि 23 दिसंबर को खरक कलां निवासी सियाराम ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि सियाराम के पास अज्ञात व्यक्ति का फोन आया कि वह उसके गांव का दोस्त भगवान दास बोल रहा है। सियाराम को पैसे वापस करने के बहाने उससे गुगल-पे या फोन-पे एप का अकाउट नंबर मांगा। सियाराम ने अपने बेटे प्रदीप को उक्त व्यक्ति का नंबर दे दिया। प्रदीप ने उसे अपना फोन-पे एप का नंबर दे दिया। व्यक्ति ने प्रदीप को दौबारा फोन करके गुगल-पे एप का नंबर मांगा। प्रदीप ने अपने दोस्त सुनिल निवासी बजिणा (भिवानी) का गुगल-पे एप का नंबर दे दिया। कुछ समय बाद सुनिल के वाट्सएप नंबर पर एक कोड आया, जिसे सुनील ने स्कैन किया तो सुनील के खाते से चार बार में कुल 46,999 रुपये की ट्रांजिक्शन हो गई। अज्ञात व्यक्ति ने धोखाधड़ी करते हुए सुनील के खाते से रुपये निकाल लिए। जांच के दौरान वारदात में शामिल रहे आरोपी नूह निवासी वसीम, कासिम व शाहरुख को गिरफ्तार किया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

अभिवादन से खुशियों की सौगात

अभिवादन से खुशियों की सौगात