‘न्याय नहीं मिला तो डीजीपी कार्यालय का होगा घेराव’

‘न्याय नहीं मिला तो डीजीपी कार्यालय का होगा घेराव’

रोहतक, 20 अक्तूबर (निस)

मंगलवार को मिशन एकता समिति की प्रदेशाध्यक्ष कांता आलड़िया के नेतृत्व में पुलिस की कार्यशैली से परेशान होकर कई पीड़ित परिवार दिल्ली बाईपास स्थित पुलिस महानिरिक्षक कार्यालय पहुंचे और आईजी को ज्ञापन सौंपा। समिति की प्रदेशाध्यक्ष कांता आलडिय़ा ने बताया कि जिला में कई थानों में तैनात एसएचओ कानून की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उन्होंने चेताया कि अगर एक सप्ताह के अंदर पुलिस प्रशासन की कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ और पीड़ित परिवारों को न्याय नहीं मिला तो वे पीड़ित परिवारों के साथ डीजीपी कार्यालय का घेराव करेंगी। आईजी संदीप खिरवार ने उचित कारवाई का आश्वासन दिया।

एसडीओ को बंधक बनाने पर बिजली कर्मियों पर केस
जींद, 20 अक्तूबर (हप्र)

बिजली निगम के ओपी सब डिवीजन सिटी के एसडीओ को बंधक बनाने के आरोप में सिटी थाना पुलिस ने 5 कर्मचारियों को नामजद कर 50-60 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। सेक्टर-8 निवासी विनय सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह बिजली निगम में एसडीओ हैं। 16 अक्तूबर को नगूरां में तैनात एएलएम राजेंद्र सिंह, जुलाना में तैनात एलएम वीरेंद्र गोयत, सिटी जींद में तैनात एएलएम सुरेंद्र सिंह, सिटी जींद में तैनात यूडीसी मनूदेव, जींद सब यूनिट में तैनात एलएम सुरेंद्र मान और उनके साथ करीब 50-60 अन्य कर्मचारियों ने उन्हें बंधक बना लिया और मारपीट भी की।

‘कोरोना की आड़ में सरकार कर रही नौकरियां खत्म’
गोहाना, 20 अक्तूबर (निस)

भाजपा-जजपा गठबंधन की प्रदेश सरकार कोविड-19 की आड़ में सरकारी नौकरियां खत्म कर रही है तथा प्रत्यक्ष रूप से निजीकरण को बढ़ावा दे रही है। मंगलवार को यह आरोप हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष दलबीर सिंह किरमारा ने लगाया। वह गोहाना के बस स्टैंड पर प्रदेश कार्यकारिणी के सहयोगी पदाधिकारियों के साथ पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने रोष व्यक्त किया कि आरटीए के 38 कर्मचारियों की भी छुट्टïी कर दी गई है। उन्होंने चेताया कि निजीकरण की तरफ राज्य सरकार के लगातार बढ़ रहे कदम न जनता के हित में हैं, न कर्मचारियों के।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

चलो दिलदार चलो...

चलो दिलदार चलो...