सरकार बताए, 6 साल में क्या बड़ा प्राेजेक्ट लगाया: हुड्डा

सरकार बताए, 6 साल में क्या बड़ा प्राेजेक्ट लगाया: हुड्डा

रोहतक में बृहस्पतिवार को पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा बार एसोसिएशन के सभागार में अधिवक्ताओं के साथ बरोदा उपचुनाव पर चर्चा करते हुए। -निस

अनिल शर्मा/निस

रोहतक, 22 अक्तूबर

पूर्व सीएम एवं नेता विपक्ष भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने बृहस्पतिवार को जिला बार के सभागार में अपने वरिष्ठ अधिवक्ता साथियों के साथ बरोदा उपचुनाव को लेकर चर्चा की। बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए हुड्डा ने प्रदेश सरकार को कठघरे में खड़ा किया और कहा कि सरकार बताए कि छह साल के शासनकाल में प्रदेश में उसने कौन सा बड़ा प्रोजेक्ट शुरू किया है।

हुड्डा ने आरोप लगाया कि सिर्फ प्रदेश की जनता पर कर्ज बढ़ाने के अलावा सरकार ने कोई काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि न तो कोई बड़ी फैक्टरी लगाई और न ही कोई शिक्षण संस्थान शुरू हुआ। भाजपा सरकार ने अगर किया है तो वह प्रदेश में घोटाले किए हैं। घोटाले भी इतने कि गिनाने लग जाएं तो शाम हो जाए। हुड्डा ने कहा कि इससे बड़ी और क्या बात होगी कि इतने घोटाले होने के बावजूद सरकार जांच को तैयार नहीं है।

कृषि क्षेत्र के लिए कानूनों का जिक्र करते हुए हुड्डा ने कहा कि आज सरकार ने यह स्थिति पैदा कर दी कि किसान अपनी आवाज उठाए तो उस पर लाठियां बरसाई जाती हैं। प्रदेश में किसी भी सूरत में कृषि कानून लागू नहीं होने दिए जाएंगे और पांच नवंबर से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में इस संबंध में प्राइवेट मेम्बर बिल लाया जाएगा। नेता विपक्ष ने कहा कि विधानसभा में पता चल जाएगा कि कौन किसानों के साथ खड़ा है और कौन किसानों के खिलाफ है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2007 में ही एमएसपी को लेकर कानून बनाया गया था कि एमएसपी से नीचे फसल खरीद नहीं होगी।

हुड्डा धरने पर बैठे बर्खास्त पीटीआई टीचर्स से भी मिले और उन्हें आश्वासन दिया कि कांग्रेस की सरकार बनने पर उनकी मांग को पूरा कर दिया जाएगा। उनके साथ विधायक बीबी बतरा, बार एसोसिएशन के प्रधान लोकेन्द्र फौगाट प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

बरोदा में जीतेंगे

बरोदा उपचुनाव में कांग्रेस की जीत का दावा करते हुए पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि सरकार ने बरोदा के विकास की अनदेखी की है और अब चुनाव आए तो बरोदा क्षेत्र की याद आ गई, लेकिन बरोदा की जनता समझदार है और चुनाव में भाजपा को आईना दिखा देगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

चलो दिलदार चलो...

चलो दिलदार चलो...

शहर

View All