‘शिक्षा की अनदेखी के बजाए अपनी आंखें खोले प्रदेश सरकार’

‘शिक्षा की अनदेखी के बजाए अपनी आंखें खोले प्रदेश सरकार’

रोहतक, 19 नवंबर (हप्र)

हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ के राज्य प्रधान सत्यवान कुंडू ने प्रदेश सरकार पर असहयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि शिक्षा की अनदेखी करने के बजाय सरकार अपनी आंखें खोले। बृहस्पतिवार को यहां प्रदेश स्तरीय बैठक को संबोधित करते हुए कुंडू ने सरकार के असहयोगात्मक रवैए की निंदा की। उन्होंने कहा कि अस्थाई स्कूल लंबे अर्से से एक्सटेंशन की बाट जोह रहे हैं। इन स्कूलों में लाखों बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं, जिनके बोर्ड फॉर्म अभी तक नहीं भरे गए हैं। अगर सरकार इन स्कूलों को जल्द एक्सटेंशन लेटर नहीं देती है तो इन बच्चों का भविष्य अधर में होगा।

कुंडू ने अभिभावकों से बच्चों की स्कूल फीस और परीक्षा शुल्क जमा करवाने का अनुरोध किया। राज्य प्रधान ने कहा कि सरकार ने हाल ही में परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य का बोझ भी प्राइवेट स्कूलों के ऊपर डाल दिया है। स्टाफ और आर्थिक व्यवस्था की कमी की मार झेल रहे निजी विद्यालयों को और ज्यादा परेशानी में धकेला जा रहा है। इन हालात में इस प्रकार के बेतुके फरमान जारी करना सरकार के प्रति बेरुखी ही पैदा करता है।

इस बैठक में रोहतक के अलावा अन्य जिलों से भी निजी स्कूल संचालकों ने शिरकत कर अपने विचार साझा किए।

इस मौके पर पर मुख्य रूप से संघ के प्रदेश वरिष्ठ उपप्रधान घनश्याम शर्मा, रोहतक इकाई के प्रधान राजकुमार नरवाल, संरक्षक परमानंद सांगवान, अशोक, जगबीर ढाका, रोहताश बल्हारा, भगवत शर्मा, सुधीर, अशोक मलिक उपस्थित रहे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत