चुनाव के प्रति मतदाताओं का 36 का आंकड़ा !

संगरूर उपचुनाव में बेहद कम वोटिंग के अलग-अलग सियासी मायने

चुनाव के प्रति मतदाताओं का 36 का आंकड़ा !

बरनाला में बृहस्पतिवार को 93 वर्षीय इंद कौर अपने भतीजे वरिंदर कुमार के साथ वोट डालकर लौटते हुए। - पवन शर्मा

चंडीगढ़, 23 जून (ट्रिन्यू)

अब इसे मतदाताओं का सत्तारूढ़ पार्टी के प्रति मोहभंग कहें या फिर प्रदेश में लचर हो रही कानून व्यवस्था के कारण चुनाव के प्रति उदासीनता, जिसके परिणामस्वरूप बृहस्पतिवार देर शाम तक मतदान का प्रतिशत 36 के आसपास बताया जा रहा है। मौजूदा परिस्थितियों के मद्देनजर अगर यह कहा जाये कि मतदाताओं का चुनाव के प्रति मोहभंग नहीं, बल्कि 36 का आंकड़ा हो गया है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

उधर, भगवंत सिंह मान के पंजाब का मुख्यमंत्री पद संभाले जाने के बाद उनके संसदीय गृह निर्वाचन क्षेत्र संगरूर के चुनाव को एक लिट्मस टेस्ट या यूं कहें कि मान के लिए एक अग्नि परीक्षा के रूप में देखा जा रहा है। आम आदमी पार्टी अभी पंजाब की सत्ता संचालन की नब्ज-नाड़ी भी समझ नहीं पाई थी कि राज्य की लगभग सभी सियासी पार्टियों की चुनावी घोषणाएं भले जो भी हों, मगर दीवारों पर अंकित इबारत यही संदेश दे रही हैं कि सभी दलों का मुख्य निशाना आम आदमी पार्टी ही है।

असल में संगरूर लोकसभा उपचुनाव के प्रचार के लिए लगभग सभी राजनीतिक दलों ने उत्साह तो खूब दिखाया, लेकिन वोटिंग के समय मतदाताओं में उदासीनता ही नजर आई। बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री भगवंत मान के इस गढ़ में महज 36.4 फीसदी वोटिंग हुई। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में यहां 72.44 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने वोट डाले थे। हाल के विधानसभा चुनावों के दौरान, लोकसभा के सभी नौ निर्वाचन क्षेत्रों में बरनाला में सबसे कम 71.45 प्रतिशत जबकि लहर में सबसे अधिक 79.60 प्रतिशत मतदान हुआ था।

विपक्षी राजनीतिक दलों ने आरोप लगाया है कि सरकार में मतदाताओं के अविश्वास के कारण मतदान में गिरावट आई है, जबकि सत्तारूढ़ आप ने दावा किया है कि मतदाताओं ने आप को वोट दिया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 2014 और 2019 में संगरूर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था। हाल में धूरी सीट से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। गौर हो कि संगरूर उपचुनाव में आप, कांग्रेस, भाजपा, शिअद और शिअद (अमृतसर) समेत सभी राजनीतिक दलों के लगभग सभी शीर्ष नेताओं ने मतदाताओं को मनाने के लिए संगरूर लोकसभा क्षेत्र में जमकर प्रचार किया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक