पंजाब के ‘आढ़तियों' ने वापस ली हड़ताल

पंजाब के ‘आढ़तियों' ने वापस ली हड़ताल

लुधियाना, 10 अप्रैल (एजेंसी)किसानों को उनकी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (फसल एमएसपी) सीधे उनके बैंक खातों में स्थानांतरित करने के केंद्र सरकार के निर्देश का पालन करने संबंधी पंजाब सरकार के फैसले के खिलाफ राज्यव्यापी हड़ताल पर जाने के कुछ घंटे बाद ही ‘आढ़तियों' ने शनिवार को इसे वापस ले लिया। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा उन्हें आश्वासन दिया गया कि वे खरीद प्रणाली का एक अभिन्न हिस्सा बने रहेंगे। इसके बाद आढ़तियों या कमीशन एजेंटों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली। इससे पूर्व दिन में राज्यभर के लगभग 40 हजार आढ़तिये किसानों को पैसे सीधे उनके बैंक खातों में स्थानांतरित करने के खिलाफ हड़ताल पर चले गये थे। आढ़तियों के नेता विजय कालरा ने पंजाब के खाद्य मंत्री भारत भूषण आशु के साथ लुधियाना में एक बैठक की और इसके बाद ‘आढ़तियों' ने हड़ताल वापस लेने का फैसला किया। कमीशन एजेंटों के हड़ताल वापस लेने की घोषणा करने के बाद उन्होंने कहा कि राज्य में गेहूं की खरीद शुरू होगी। मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार ने एक ट्वीट में कहा, ‘पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के आढ़तिया संघ द्वारा अपनी हड़ताल वापस लेने के बाद राज्य में औपचारिक रूप से गेहूं खरीद शुरू की। मुख्यमंत्री ने संघ के सदस्यों को आश्वासन दिया कि आढ़तिये हमेशा राज्य की खरीद प्रणाली का एक अभिन्न हिस्सा बने रहेंगे।'

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी