कृषि विधेयकों का प्रकाश सिंह बादल ने भी किया था समर्थन : सुखदेव ढींढसा

कहा-किसानों की नाराज़गी देखकर मजबूरी में अकाली दल ने राजग से तोड़ा नाता

कृषि विधेयकों का प्रकाश सिंह बादल ने भी किया था समर्थन : सुखदेव ढींढसा

चंडीगढ़, 27 सितंबर (एजेंसी)

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के बागी नेता सुखदेव सिंह ढींढसा ने रविवार को कहा कि अकाली दल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से नाता ‘मजबूरी' में तोड़ा क्योंकि कृषि विधेयकों को लेकर किसान इस पार्टी से नाराज हो गये थे। उल्लेखनीय है कि कृषि विधेयक को लेकर शिअद ने शनिवार को राजग से अलग होने की घोषणा की। बता दें कि गत कुछ सालों में अकाली दल तीसरी पार्टी है जिसने भाजपा नीत राजग से नाता तोड़ा है। राज्यसभा सदस्य ढींढसा ने कहा, ‘उन्होंने (शिअद) ने यह मजबूरी में किया क्योंकि किसान उनसे नाराज हैं।' उन्होंने कहा कि शुरुआत में शिअद ने विधेयकों का समर्थन किया था और यहां तक कि पार्टी के वयोवृद्ध नेता प्रकाश सिंह बादल ने भी इसके समर्थन में बोला था। असंतुष्ट अकाली नेता ने कहा, ‘पार्टी ने यह कहकर यू टर्न ले लिया कि यह किसानों के हित में नहीं है। क्या ये विधेयक शुरुआत में किसानों के लिए खराब नहीं थे?' उन्होंने आरोप लगाया,‘वे (शिअद) राज्य में जमीनी समर्थन खो चुके हैं।' पूर्व में शिअद (लोकतांत्रिक) पार्टी बनाने वाले ढींढसा ने कहा कि उनकी राजनीतिक पार्टी शुरू से ही इस मुद्दे पर किसानों का समर्थन कर रही है। उन्होंने कहा, ‘पहले दिन से हम किसानों का समर्थन कर रहे हैं और उनके साथ खड़े हैं। हमारी पार्टी चाहती है कि इस मुद्दे का यथा शीघ्र समाधान हो।' उल्लेखनीय है कि इस साल फरवरी में पार्टी विरोधी गतिवधियें के आरोप में सुखदेव सिंह ढींढसा, उनके बेटे और राज्य के पूर्व वित्तमंत्री परमिंदर सिंह ढींढसा को शिअद से बर्खास्त कर दिया गया था।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

दीवारें भी लगें हैप्पी

दीवारें भी लगें हैप्पी

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

कार्तिक आर्यन   हैप्पी होगा न्यू ईयर

कार्तिक आर्यन हैप्पी होगा न्यू ईयर

शहर

View All