कश्मीर में आतंकियों ने किया जवान का अपहरण, कार भी फूंकी

कश्मीर में आतंकियों ने किया जवान का अपहरण, कार भी फूंकी

सुरेश एस डुग्गर

जम्मू, 3 अगस्त।

कुलगाम में आतंकियों ने टेरिटोरियल सेना (टीए) के जवान को अगवा कर लिया है। सुरक्षाबलों ने उसे आतंकियों की चंगुल से मुक्त कराने के लिए कुलगाम, शोपियां और अनंतनाग के विभिन्न हिस्सों में तलाशी अभियान चला रखा हैे। इस बीच, अगवा जवान के परिजनों ने आतंकियों से उसकी रिहाई की अपील की है।

मिली जानकारी के अनुसार, जवान शाकिर मंजूर ईद-उल-जुहा के मुबारक मौके पर छुट्टी लेकर गत‍् सप्ताह ही अपने घर आया था। वह शोपियां में तैनात था जबकि उसका घर कुलगाम में है। गत‍् शाम को वह अपनी मारुति कार (जेके22बी-3968) में वापस अपनी ड्यूटी के लिए रवाना हुआ। देर रात गए रबंहामा में स्थानीय लोगों ने सड़क पर कुछ धुंआ उठता देखा। जब वे मौके पर पहुंचे तो उन्हें वहां आग की लपटों में घिरी कार नजर आयी। ग्रामीणों ने आग पर काबू पाने का प्रयास करते हुए पुलिस को सूचित किया। पुलिस और सेना के जवान भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जब छानबीन की तो पता चला कि कार मुजफ्फर मंजूर की है। कार के मालिक का पता लगाया गया। पता चला कि कार जवान शाकिर मंजूर चला रहा था। उसकी बटालियन में संपर्क किया गया तो पता चला कि वह तो वापस पहुंचा ही नहीं है। पुलिस को अपने सूत्रों से पता चला है कि शाकिर मंजूर का आतंकियों ने अपहरण कर लिया है।

खेतों और बागों के ऊपर ड्रोन से हो रही खोज 

जिस जगह कार मिली है, उसके आसपास के खेतों और बागों के ऊपर ड्रोन भी उड़ाया जा रहा है। खोजी कुत्तों की भी मदद ली जा रही है। अलबता, अभी तक अगवा जवान का कोई सुराग नहीं मिला था। जानकारी के लिए आतंकियों ने इससे पहले जून 2018 में बकरीद पर घर आ रहे पुंछ निवासी जवान औरंगजेब का दक्षिणी कश्मीर के शादीमर्ग इलाके से अपहरण कर लिया था। बाद में जवान की हत्या कर दी थी।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश