बिहार चुनाव

राजद के घोषणा-पत्र में 10 लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा

राजद के घोषणा-पत्र में 10 लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा

पटना, 24 अक्तूबर (एजेंसी)

राजद नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को पार्टी के घोषणा पत्र में 10 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा दोहराते हुए एक ऐसे बेहतर बिहार का निर्माण करने का आह्वान किया जहां लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिये राज्य से पलायन करने की जरूरत न पड़े। राजद के घोषणा पत्र को 'प्रण हमारा, संकल्प बदलाव का' नाम दिया गया है। पार्टी ने 10 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा दोहराया है और कृषि रिण माफ करने की बात की है। घोषणा-पत्र में कृषि, उद्योग और शिक्षा को प्रमुखता दी गई है । यादव ने महागठबंधन को जनादेश देने की अपील करते हुए कहा, ‘आइये हम मिलकर अपनी पीढ़ी और अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये एक ऐसे बेहतर बिहार का निर्माण करें जहां शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिये पलायन करने की जरूरत न पड़े।' उन्होंने संवाददााओं से कहा, ‘हम 10 लाख सरकारी नौकरी देंगे।' राजद नेता ने कहा कि सभी को पक्की नौकरी मिलेगी और एक जैसे काम के लिए सभी को एक जैसा वेतन मिलेगा। भाजपा के 19 लाख नौकरियां देने के वादे पर तंज करते हुए राजद नेता ने कहा, ‘भाजपा बताए कि उनका मुख्यमंत्री पद का चेहरा कौन है? उनका मुख्यमंत्री पद का चेहरा नीतीश कुमार है। नीतीश जी ने तो पहले ही 10 लाख नौकरियों पर हाथ खड़े कर दिया, अब भाजपा कैसे 19 लाख नौकरियां देगी?' तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि नौकरी देने के नाम पर भाजपा लोगों को बेवकूफ बना रही है। महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि उन्होंने तार्किक आधार पर 10 लाख नौकरियों का वादा किया है क्योंकि 4.5 लाख पद तो रिक्त पड़े हैं। नौकरियों के लिये पैसे के बारे में नीतीश कुमार के बयान पर तेजस्वी ने कहा कि बिहार का बजट 2.5 लाख करोड़ रूपये है और इसमें से नीतीश कुमार की सरकार सिर्फ़ 60% बजट का हिस्सा ही ख़र्च कर पाती है । उन्होंने कहा कि 40 प्रतिशत राशि बिना खर्च रह जाती है जो 80 हजार करोड़ रुपये बनता है। उन्होंने कहा, ‘क्या बाकी बचे धन को भी जनकल्याण व अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कोई योग्य व तत्पर सरकार सदुपयोग नहीं कर पाएगी?'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

मुसीबत आये तो और मजबूत हो जाइये

मुसीबत आये तो और मजबूत हो जाइये

...सभना जीआ इका छाउ

...सभना जीआ इका छाउ

सो क्यों मंदा आखिए...

सो क्यों मंदा आखिए...

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

मुख्य समाचार

कृषि सुधार कानूनों पर जानबूझकर फैलाया जा रहा है भ्रम : मोदी

कृषि सुधार कानूनों पर जानबूझकर फैलाया जा रहा है भ्रम : मोदी

खजूरी गांव में 6 लेन मार्ग चौड़ीकरण के लोकार्पण अवसर पर पीएम...

कश्मीर : एक बार फिर आतंकी हमले की बाडी कैमरे लगाकर की गई रिकार्डिंग!

कश्मीर : एक बार फिर आतंकी हमले की बाडी कैमरे लगाकर की गई रिकार्डिंग!

युवकों को आकर्षित करने और रंगरूटों में जोश भरने का प्लान

शहर

View All