क्यूएस रैंकिंग : दुनिया के 500 संस्थानों में भारत के 6 आईआईटी

क्यूएस रैंकिंग : दुनिया के 500 संस्थानों में भारत के 6 आईआईटी

नयी दिल्ली, 23 सितंबर (एजेंसी)

भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) बेंगलुरू और 6 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) ने क्यूएस स्नातक रोजगार संबंधी रैंकिंग 2022 में शीर्ष 500 विश्वविद्यालयों में स्थान बनाया है। आईआईटी बॉम्बे ने भारतीय संस्थानों में शीर्ष स्थान प्राप्त किया। इस सूची में 3 केंद्रीय विश्वविद्यालयों ने भी स्थान बनाया, जिसमें दिल्ली विश्वविद्यालय, मुंबई विश्वविद्यालय और कलकत्ता विश्वविद्यालय शामिल हैं। निजी विश्वविद्यालयों में ओपी जिंदल ग्लोबल विश्वविद्यालय, सोनीपत और बिट्स पिलानी का नाम भी सूची में शामिल है। आईआईटी बॉम्बे को 101-110 रैंक के बीच रखा गया है। आईआईटी दिल्ली को (131-140), आईआईटी मद्रास को (151-160), आईआईटी खड़गपुर को (201-250), आईआईटी कानपुर को (251-300) और आईआईटी रुड़की को (500) रैंक दिया गया है। आईआईएससी बेंगलुरू और ओपी जिंदल ग्लोबल विश्वविद्यालय का स्थान सूची में 301-500 की श्रेणी में है। बिरला इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (बिट्स) पिलानी और मुंबई विश्वविद्यालय का रैंक 250-300 के बीच है। लंदन स्थित क्वाकक्वारेली साइमंड्स ने कहा कि रैंकिंग में आने वाले विश्वविद्यालयों ने आधुनिक कार्य स्थलों के लिये कौशल युक्त स्नातक तैयार करने की क्षमता प्रदर्शित की है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

मुख्य समाचार

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

मौसम की मार नैनीताल का संपर्क कटा। यूपी में 4 की गयी जान

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

भुखमरी सूचकांक  पाक, नेपाल से पीछे भारत