प्रधानमंत्री मोदी ने ली कोविड-19 रोधी टीके की दूसरी खुराक

पंजाब के संगरूर की नर्स निशा शर्मा ने प्रधानमंत्री को लगाया टीका

नयी दिल्ली, 8 अप्रैल (एजेंसी)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को राजधानी स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कोविड-19 रोधी टीके की दूसरी खुराक ली और इस महामारी को परास्त करने के लिए टीकाकरण को एक प्रभावी उपाय बताते हुए उन्होंने सभी पात्र लोगों से जल्द से जल्द टीका लगवाने की अपील की। प्रधानमंत्री ने एक मार्च को टीके की पहली खुराक ली थी। उन्हें भारत बायोटेक का कोवैक्सीन टीका लगाया गया था। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘आज एम्स में कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक ली। वायरस को हराने के हमारे पास मौजूद कुछ तरीकों में एक टीकाकरण भी है। अगर आप टीका लेने के पात्र हैं तो जल्द से जल्द टीका लगवाएं।' उन्होंने टीका के लिए सभी पात्र लोगों से ‘कोविन डॉट जीओवी डॉट इन’ पर पंजीकरण कराने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने टीका लगवाते हुए अपनी एक तसवीर भी पोस्ट की। मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा निर्मित स्वदेशी कोवैक्सीन का टीका लगवाया है।

पंजाब के संगरूर की रहने वाली निशा शर्मा ने प्रधानमंत्री को टीका लगाया। उनके साथ पुडुचेरी की पी निवेदा भी मौजूद थीं, जिन्होंने एक मार्च को प्रधानमंत्री को टीके की पहली खुराक दी थी। बाद में पत्रकारों से बातचीत में शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री को टीका लगाना उनके लिए एक यादगार पल था। उन्होंने कहा, ‘‘आज सुबह ही हमें पता चला कि प्रधानमंत्री टीके की दूसरी खुराक लेने आ रहे हैं। टीका लगाने के समय उनसे बातचीत भी हुई। उन्होंने पूछा भी कि मैं कहां से हूं। हमने साथ में फोटी भी ली। मेरे लिए यह बहुत यादगार पल थे। उनसे मिलने और उन्हें टीका लगाने का मौका मिला।'' निवेदा ने कहा कि उन्हें दूसरी बार प्रधानमंत्री से मिलने का मौका मिला और उन्हें बहुत अच्छा लगा।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!