काले कपड़े पहन किया विरोध प्रदर्शन

महंगाई... आखिर कांग्रेस ने ली अंगड़ाई

पीएमओ घेराव से पहले राहुल, प्रियंका समेत कई नेता हिरासत में

महंगाई... आखिर कांग्रेस ने ली अंगड़ाई

नयी दिल्ली में शुक्रवार को महंगाई, बेरोजगारी आदि मुद्दों को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस बेरिकेड को पार करतीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी। - प्रेट्र

नयी दिल्ली, 5 अगस्त (एजेंसी)

कांग्रेस ने महंगाई, बेरोजगारी और कई खाद्य वस्तुओं को जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के दायरे में लाए जाने के खिलाफ शुक्रवार को काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन से राष्ट्रपति भवन के लिए मार्च निकाला। हालांकि, पुलिस ने उन्हें बीच में ही रोक दिया और हिरासत में ले लिया।

पूर्व घोषित कार्यक्रम के मुताबिक कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्यों एवं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की प्रधानमंत्री आवास का ‘घेराव करने' की योजना थी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी पीएमओ घेराव कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कांग्रेस मुख्यालय पहुंचीं। काले रंग की सलवार-कमीज और दुपट्टा पहने प्रियंका पार्टी मुख्यालय के सामने पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधक को लांघकर दूसरी तरफ पहुंचीं और सड़क पर धरने पर बैठ गईं। कुछ देर बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। संसद भवन से पार्टी सांसदों का मार्च शुरू होने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी थोड़ी देर के लिए शामिल हुईं।

राहुल ने दावा भी किया कि अभी देश की हर संस्था पर आएसएस और भाजपा का कब्जा है। उन्होंने कहा, ‘जो इस देश ने 70 साल में बनाया, उसे आठ साल में खत्म कर दिया गया।' उन्होंने कहा, 'मैं आरएसएस का जितना विरोध करूंगा, मुझ पर आक्रमण होगा।' राहुल ने कहा, ‘हिटलर भी चुनाव जीतता था। उसने सभी संस्थाओं पर कब्जा कर रखा था...मुझे सारी संस्थाएं दे दीजिए, फिर बताऊंगा कि चुनाव कैसे जीतते हैं।'

जनता ने आपको खारिज किया, ठीकरा लोकतंत्र पर न फोड़ें : भाजपा

पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने जो बयान दिए हैं, वे ‘शर्मनाक और गैरजिम्मेदाराना' हैं। उन्होंने राहुल को याद दिलाया कि वह उनकी दादी प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ही थीं, जिन्होंने देश पर आपातकाल थोपा था। भाजपा नेता ने कहा, राहुल गांधी को देश को यह बताना चाहिए कि क्या उनकी पार्टी में लोकतंत्र है? उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी को अगर जनता वोट नहीं देती है, तो कृपया करके लोकतंत्र पर क्यों ठीकरा फोड़ रहे हैं?' प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने जो किया है, उसका खमियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा।

राम मंदिर निर्माण के खिलाफ संदेश : शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘आज का दिन कांग्रेस ने इसलिए काले कपड़ों में विरोध के लिए चुना, क्योंकि वे संदेश देना चाहते हैं कि हम राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और तुष्टिकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं।’ अमित शाह की टिप्पणी पर कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया, ‘आज महंगाई, बेरोजगारी और जीएसटी के खिलाफ कांग्रेस के लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण प्रदर्शन को बदनाम करने एवं इससे ध्यान भटकाने का गृह मंत्री ने घृणित प्रयास किया। ’

चंडीगढ़ और हरियाणा के कई इलाकों में भी लगे नारे

चंडीगढ़ (ट्रिन्यू) : कांग्रेस के देशव्यापी प्रदर्शन का असर हरियाणा में भी दिखा। चंडीगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री व विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेशाध्यक्ष चौ. उदयभान के नेतृत्व में पार्टी के वरिष्ठ नेता, विधायकों और कार्यकर्ताओं ने राजभवन की तरफ घेराव के लिए मार्च किया, लेकिन उन्हें हिरासत में ले लिया गया। उधर, हरियाणा के भिवानी, रोहतक, फरीदाबाद, सोनीपत, पलवल, जींद, गुरुग्राम, हिसार, चरखी दादरी, कैथल, करनाल, अम्बाला, यमुनानगर, झज्जर समेत अनेक स्थानों पर स्थानीय कांग्रेस नेताओं के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मार्च निकाला और केंद्र एवं प्रदेश सरकार के खिलाफ नारे लगाये।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग