भारत के नये संचार उपग्रह जीसैट-24 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण

टाटा प्ले करेगा इस्तेमाल

भारत के नये संचार उपग्रह जीसैट-24 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण

बेंगलुरू, 23 जून (एजेंसी)

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपनी कमर्शियल शाखा न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के लिए बनाए संचार उपग्रह जीसैट-24 का फ्रेंच गुयाना (दक्षिण अमेरिका) के कोउरू से बृहस्पतिवार को सफल प्रक्षेपण किया। ‘डायरेक्ट-टू-होम' (डीटीएच) सेवा प्रदाता कंपनी टाटा प्ले को इस संचार उपग्रह की पूरी क्षमता का उपयोग करने की मंजूरी दी गयी है। एनएसआईएल ने ‘टाटा प्ले' को यह क्षमता लीज पर दी है। फ्रांसीसी कंपनी एरियनस्पेस द्वारा संचालित एरियन-5 रॉकेट के जरिए जीसैट-24 को उसकी निर्धारित कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित किया गया है। जीसैट-24 उपग्रह 24-केयू बैंड वाला एक संचार उपग्रह है, जिसका वजन 4,180 किलोग्राम है। यह ‘डीटीएच' सेवा संबंधी जरूरतों को पूरा करेगा और अखिल भारतीय कवरेज मुहैया कराएगा। एरियन-5 रॉकेट के जरिए जीसैट-24 समेत मलेशियाई ऑपरेटर एमईएसैट के लिए एमईएसैट-3डी को भी सफलतापूर्वक उनकी निर्धारित कक्षाओं में प्रक्षेपित किया गया है। एनएसआईएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राधाकृष्णन दुरईराज ने कहा कि संपूर्ण मिशन पूरी तरह से एनएसआईएल द्वारा वित्त पोषित है जिसमें-उपग्रह, प्रक्षेपण, प्रक्षेपण अभियान, बीमा, परिवहन, कक्षा में रखरखाव आदि शामिल है। उपग्रह के कक्षा में स्थापित होने के बाद यह पूरी तरह से एनएसआईएल के स्वामित्व वाला होगा। हम ही इस उपग्रह का संचालन करेंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

शहर

View All