कोरोना मामले 50 लाख के पार

कोरोना मामले 50 लाख के पार

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (एजेंसी)

देश में कोरोना मामले 50 लाख के पार हो गये हैं। केवल 11 दिनों के अंदर 10 लाख से ज्यादा मामले बढ़े हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार सुबह तक के आंकड़ों के अनुसार एक दिन में 90,123 नये संक्रमित पाये जाने के साथ कुल 5 लाख 20 हजार 359 मामले हो गये। वहीं, 1290 संक्रमितों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 82,066 हो गयी। राहत की बात यह कि 24 घंटों में 82,961 कोरोन मरीज स्वस्थ हुए, जो एक दिन की सर्वाधिक संख्या है। इनमें से करीब एक चौथाई केवल महाराष्ट्र से हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इस रोग से उबर चुके मरीजों की कुल संख्या बढ़ कर 39.5 लाख के करीब पहुंच गई। स्वस्थ होने की दर 78.53 फीसदी हो गयी है। कोरोना से मृत्यु दर गिरकर 1.63 फीसदी पर आ गयी है। आंकड़ों के अनुसार देश में करीब 9.96 लाख कोरोना संक्रमितों का इलाज जारी है, जो कुल मामलों का 19.84 फीसदी है।

110 दिन में हुए थे एक लाख देश में 110 दिन में एक लाख हुए थे कोरोना मामले। इसके बाद 59 दिनों में 10 लाख के पार हो गये। फिर 10 से 20 लाख के पार पहुंचने में लगे 21 दिन। इसके बाद 16 दिन में 30 लाख हो गये और 13 दिन में 40 लाख का आंकड़ा पार हो गया। इसके आगे 50 लाख की संख्या पार करने में केवल 11 दिन लगे।

डॉ. रेड्डीज को मिलेंगे 10 करोड़ रूसी टीके

रूस का सरकारी संपत्ति कोष ‘रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड’ (आरडीआईएफ) भारत में नियामकीय मंजूरी मिलने के बाद दवा कंपनी डॉक्टर रेड्डीज लैबोरेट्रीज को कोरोना टीके ‘स्पुतनिक वी’ की 10 करोड़ खुराक की आपूर्ति करेगा। डॉक्टर रेड्डीज और आरडीआईएफ ने एक संयुक्त बयान में बुधवार को कहा कि भारत में इस टीके के चिकित्सकीय परीक्षण और वितरण के लिए सहयोग पर दोनों में सहमति बनी है। बयान के मुताबिक देश में इस टीके की आपूर्ति 2020 के अाखिर तक शुरू होगी। रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने 11 अगस्त को स्पुतनिक-वी पंजीकरण किया था। इस प्रकार यह दुनिया का पहला पंजीकृत कोविड-19 टीका है। डॉक्टर रेड्डीज के सह-चेयरमैन और प्रबंध निदेशक जीवी प्रसाद ने कहा कि इसके पहले और दूसरे चरण के परीक्षण के परिणाम उत्साहवर्द्धक हैं। हम भारत में इसके तीसरे- चरण के परीक्षण करेंगे, यह टीका भारत में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगा।

ऑक्सफोर्ड के टीके का ट्रायल फिर होगा शुरू

भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) डॉ. वीजी सोमानी ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके का क्लिनिकल ट्रायल देश में फिर शुरू करने की इजाजत दे दी है। इसके दूसरे और तीसरे चरण के लिए नये प्रतिभागियों को शामिल करने पर रोक का आदेश वापस ले लिया गया है। बहरहाल, डीसीजीआई ने क्लिनिकल ट्रायल को लेकर कई शर्तें भी रखीं हैं, जिनमें स्क्रीनिंग के दौरान अतिरिक्त देखभाल करना, अतिरिक्त सूचना देना और फॉलो-अप के दौरान प्रतिकूल प्रभाव की करीब से निगरानी शामिल है।

गडकरी भी संक्रमित : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी कोरोना संक्रमित पाए गये हैं। दोनों ने बुधवार को ट्वीट कर इस बारे में बताया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी