भाजपा 2024 के आम चुनाव की चिंता करे : The Dainik Tribune

भाजपा 2024 के आम चुनाव की चिंता करे

भाजपा 2024 के आम चुनाव की चिंता करे

पटना में बुधवार को शपथ ग्रहण के बाद पत्रकारों से बात करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं राजद नेता तेजस्वी यादव। - प्रेट्र

पटना, 10 अगस्त (एजेंसी)

नीतीश कुमार (71) ने बुधवार को आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर पद और गोपनीयता की शपथ ली। कुमार के अलावा राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी शपथ ली। शपथ लेने के बाद तेजस्वी ने नीतीश के चरण स्पर्श किए। दोनों गले भी मिले। सात दलों के सत्तारूढ़ इस गठबंधन के सूत्रों ने कहा कि मंत्रिमंडल का विस्तार बाद में होगा।

शपथ ग्रहण के तुरंत बाद भाजपा की ओर इशारा करते हुए पत्रकारों से बातचीत में नीतीश ने कहा, ‘2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू के साथ क्या हुआ था। मैं 2020 में मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता था। आप सभी साक्षी हैं कि तब से क्या हो रहा था। पार्टी के विधायक और उम्मीदवारों से पूछ लें। सभी लोग इस बारे में लगातार बता रहे थे, अंततः मुझे लगा कि सभी की इच्छा है तो उनकी इच्छा का स्वागत करते हुए फिर 2015 की तरह साथ हो गए और साथ मिलकर अब बिहार के हित के लिए काम करेंगे।' उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को लगता है विपक्ष खत्म हो जाएगा तो हम लोग भी अब आ ही गए हैं विपक्ष में। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘2014 में जो (सत्ता में) आए, 2024 के आगे रह पाएंगे या नहीं वह अपना समझें।' उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को 2024 के लोकसभा चुनाव के बारे में चिंता करनी चाहिए।

भाजपा ने किया प्रदर्शन : भाजपा ने नीतीश पर ‘विश्वासघात' का आरोप लगाते हुए बिहार में प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री के पुराने आलोचकों में शुमार केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया कि नीतीश अपनी महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए लगातार बिहार को ‘धोखा' दे रहे हैं। गिरिराज सिंह ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद की एक पुरानी टिप्पणी को लेकर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘सांप आपके घर में घुस गया है।' दरअसल, नीतीश कुमार ने 2017 में जब भाजपा से हाथ मिलाया था तो लालू ने ट्वीट किया था, ‘...सांप की तरह नीतीश भी केंचुल छोड़ता है और हर 2 साल में सांप की तरह नया चमड़ा धारण कर लेता है। किसी को शक?'

मेरी दावेदारी नहीं

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अगले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे, नीतीश कुमार ने कहा, ‘मेरी कोई दावेदारी नहीं है।' इस प्रश्न पर कि क्या वह देश में अब विपक्ष की राजनीति को मजबूत करेंगे, नीतीश ने कहा, ‘पूरे तौर पर करेंगे। एक बार पहले भी किया था। हम चाहेंगे कि सभी लोग मिलकर पूरी तरह से मजबूत हों।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All