एक दिन में 803 मौतें, 52 हजार नये मरीज

कोरोना : मृत्यु दर हुई कम, ठीक होने वाले बढ़े

एक दिन में 803 मौतें, 52 हजार नये मरीज

िदल्ली एनसीआर में मंगलवार को एक िजम को सेनेटाइज करता ट्रेनर। -मानस रंजन भुई

नयी दिल्ली, 4 अगस्त (एजेंसी)

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 18.55 लाख के पार हो गयी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार सुबह के आंकड़ों के अनुसार एक दिन में 52,050 नये मामले सामने आये। इस दौरान 44306 लोग ठीक हुए, जबकि 803 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। मृतकों की संख्या बढ़कर 38,938 हो गई है। ठीक होने वालों का आंकड़ा 12.30 लाख से ऊपर पहुंच गया है। स्वस्थ होने की दर बढ़कर 66.31 फीसदी हो गई है। वहीं, मृत्यु दर घटकर 2.10 प्रतिशत पर आ गई है।

रिकॉर्ड 6.61 लाख टेस्ट : मंत्रालय ने बताया कि कोरोना मरीजों का पता लगाने के लिए रोजाना प्रति 10 लाख आबादी पर 479 जांच की जा रही है। आईसीएमआर के अनुसार 2 अगस्त तक 2.08 करोड़ से ज्यादा टेस्ट किए गये। इनमें से 6,61,892 टेस्ट सोमवार को हुए।

प्रधान, सिद्धरमैया संक्रमित 

केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को संक्रमित पाए जाने के बाद मेदांता में भर्ती कराया गया है। उधर, कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धरमैया भी  संक्रमित हो गये हैं। डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

नये क्षेत्रों में सामने आये मामले

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में नये क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण फैला है लेकिन संक्रमण के कुल मामलों में 82 प्रतिशत केवल 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों तक सीमित हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश के कुल मामलों के 66 प्रतिशत मामले सिर्फ 50 जिलों में हैं और मृत्युदर घटकर 2.10 प्रतिशत रह गयी है। यह लॉकडाउन के बाद से पहली बार इतनी कम है। आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना का पता लगाने के लिए की गयी कुल जांच में 25 से 30% जांच रैपिड एंटीजन तरीके से की गयी। 

तीन वैक्सीन ट्रायल के दौर में :  भार्गव ने बताया कि भारत की 3 वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के विभिन्न चरणों में हैं। इनमें भारत बायोटेक वैक्सीन और जाइडस कैडिला की डीएनए वैक्सीन ने पहला चरण पूरा कर लिया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

जो पीड़ पराई जाणे रे

जो पीड़ पराई जाणे रे

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

मुख्य समाचार

शहर

View All