महामारी के पहले 14 महीनों के दौरान 1,19,000 भारतीय बच्चों ने माता-पिता, अभिभावकों को खोया!

महामारी के पहले 14 महीनों के दौरान 1,19,000 भारतीय बच्चों ने माता-पिता, अभिभावकों को खोया!

प्रतीकात्मक चित्र

वाशिंगटन, 21 जुलाई (एजेंसी)कोरोना वायरस महामारी के पहले 14 महीनों के दौरान भारत के 1,19,000 बच्चों समेत 21 देशों में 15 लाख से अधिक बच्चों ने संक्रमण के कारण अपने माता-पिता या उन अभिभावकों को खो दिया जो उनकी देखभाल करते थे। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग एब्यूज (एनआईडीए) और नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ (एनआईएच) के अध्ययन में कहा गया है कि भारत में 25,500 बच्चों ने कोविड-19 के कारण अपनी मां को खो दिया जबकि 90,751 बच्चों ने अपने पिता को और 12 बच्चों ने माता-पिता दोनों को खो दिया।

इस अध्ययन के आकलन के अनुसार, दुनियाभर में 11,34,000 बच्चों ने अपने माता-पिता या संरक्षक दादा-दादी/नाना-नानी को कोविड-19 के कारण खो दिया। इनमें से 10,42,000 बच्चों ने अपनी मां, पिता या दोनों को खो दिया। ज्यादातर बच्चों ने माता-पिता में से किसी एक को गंवाया है।

एआईएच ने एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा कि कुल मिलाकर 15,62,000 बच्चों ने माता-पिता में से कम से कम एक या देखभाल करने वाले लोगों में से किसी एक को या अपने साथ रह रहे दादा-दादी/नाना-नानी (या अन्य बुजुर्ग रिश्तेदार) को खो दिया। इसमें कहा गया है कि जिन देशों में सबसे अधिक बच्चों ने माता-पिता में से किसी एक या दोनों को खोया है उनमें दक्षिण अफ्रीका, पेरू, अमेरिका, भारत, ब्राजील और मेक्सिको शामिल हैं। देखभाल करने वाले प्राथमिक लोगों में कोविड के कारण मौत की दर वाले देशों में पेरू, दक्षिण अफ्रीका, मेक्सिको, ब्राजील, कोलंबिया, ईरान, अमेरिका, अर्जेंटीना और रूस शामिल हैं। एनआईडीए की निदेशक नोरा डी वोल्कोव ने कहा,‘माता-पिता या देखभाल करने वाले व्यक्ति को खोने के बाद कोई भी बच्चा भयानक तनाव से गुजरता है, इसके सबूतों के आधार पर समय रहते कुछ कदम उठाए जा सकते हैं जो आगे परिस्थितियों को और बिगड़ने से रोक सकते हैं जैसे कि मादक पदार्थ का इस्तेमाल करना और हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चे इन सब चीजों से दूर रहे।'

रिपोर्ट के मुताबिक, 2,898 भारतीय बच्चों ने अपने संरक्षक दादा-दादी/नाना-नानी को खो दिया जबकि नौ बच्चों ने इनमें से दोनों को खो दिया। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘मौत में लिंग और उम्र का पता लगाने पर हमने पाया कि दक्षिण अफ्रीका को छोड़कर बाकी देशों में महिलाओं के मुकाबले पुरुषों की मौत अधिक हुई खासतौर से अधेड़ उम्र और बुजुर्ग माता-पिता की।’

 

 

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शह-मात का खेल‌‍

शह-मात का खेल‌‍

विकास की बलिवेदी पर वनों की आहुति

विकास की बलिवेदी पर वनों की आहुति

सही सामान देना दुकानदार की जिम्मेदारी

सही सामान देना दुकानदार की जिम्मेदारी

मातृभाषा से स्वाधीनता प्राप्ति का संकल्प

मातृभाषा से स्वाधीनता प्राप्ति का संकल्प

मुख्य समाचार

चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नये मुख्यमंत्री

चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के नये मुख्यमंत्री

हरीश रावत ने दी कांग्रेस विधायक दल का नेता चुने जाने की जानक...

क्या कांग्रेस सिद्धू के खिलाफ अमरेंद्र के गंभीर आरोप का संज्ञान लेगी : भाजपा

क्या कांग्रेस सिद्धू के खिलाफ अमरेंद्र के गंभीर आरोप का संज्ञान लेगी : भाजपा

सोनिया गांधी सहित राहुल और प्रियंका की चुप्पी पर उठाये सवाल

मैंने पंजाब की मुख्यमंत्री बनने से किया इनकार, किसी सिख को संभालनी चाहिए यह जिम्मेदारी : अंबिका सोनी

मैंने पंजाब की मुख्यमंत्री बनने से किया इनकार, किसी सिख को संभालनी चाहिए यह जिम्मेदारी : अंबिका सोनी

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता ने कहा- पार्टी की पंजाब इकाई में टकर...

आप का सीएम उम्मीदवार होगा पंजाब का गौरव : राघव चड्ढा

आप का सीएम उम्मीदवार होगा पंजाब का गौरव : राघव चड्ढा

आम आदमी पार्टी की सरकार बनी तो 300 यूनिट मुफ्त बिजली देंगे

हर महीने केंद्र को 1000 से 1500 करोड़ का टोल राजस्व देगा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे : नितिन गडकरी

हर महीने केंद्र को 1000 से 1500 करोड़ का टोल राजस्व देगा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे : नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने एनएचएआई को बताया...