युसुफ साहब के बिना मेरा जीवन 'फीका' है : सायरा बानो

युसुफ साहब के बिना मेरा जीवन 'फीका' है : सायरा बानो

मुंबई, 7 जुलाई (एजेंसी) दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार के निधन को एक साल हो गया है और उनकी पत्नी सायरा बानो का कहना है कि दिलीप कुमार के साथ उनके जीवन का हर रंग चला गया है और उनका जीवन फीका हो चुका है। चिकित्सकों ने सायरा को लोगों से मिलने जुलने और व्यस्त रहने की सलाह दी है। लेकिन, तमाम कोशिशों के बावजूद सायरा के लिए जीवन में आगे बढ़ना मुश्किल हो गया है। सायरा बानो ने पीटीआई-भाषा को दिए विशेष साक्षात्कार में बृहस्पतिवार को कहा, ‘युसुफ साहब के बिना मेरा जीवन 'फीका' है। यह एक अलग तरह का प्यार है। आप अपने जीवन में कुछ लोगों की जगह किसी और को नहीं दे सकते। मुझे चाहे दुनिया की सारी दौलत दे दो और दूसरी ओर दिलीप साहब को रख दो...., मुझे दिलीप साहब चाहिए।' ‘मुगल-ए-आजम', ‘शक्ति' और कई अन्य फिल्मों में शानदार अभिनय के जरिए भारतीय सिनेमा के इतिहास में महान कलाकारों की सूची में अपना नाम दर्ज कराने वाले दिलीप कुमार लोगों के लिए एक दिग्गज अभिनेता थे लेकिन सायरा बानो के लिए वह उनके 'साहब' थे। दिलीप कुमार और सायरा बानो का रिश्ता करीब 55 साल, दिलीप कुमार के निधन तक चला। दिलीप कुमार की आंखों में चमक, हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के लिए उनका प्यार और विशेष चाय के लिए उनका शौक, ये मुट्ठी भर कुछ यादें हैं जिन्हें सायरा ने सहेज कर रखा है। केवल 12 साल की उम्र में ही सायरा बानो दिलीप कुमार की दीवानी बन गईं थीं। पिछले साल 98 वर्ष की उम्र में दिलीप कुमार का निधन हो गया था। सायरा बानो ने कहा, ‘हम अपने परिवार और करीबी दोस्तों के साथ एक प्रार्थना सभा करेंगे। उनकी आत्मा को शांति मिले, इसके लिए हम एक साथ ध्यान और प्रार्थना करेंगे। हम प्रार्थना करेंगे कि वह अपने ईश्वर के साथ जन्नत की सबसे अच्छी जगह हों।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

नाजुक वक्त में संयत हो साथ दें अभिभावक

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

आत्मनिर्भरता संग बचत की धुन

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

हमारे आंगन में उतरता अंतरिक्ष

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग