तमन्ना भाटिया की ‘सीटीमार’ शुरू

तमन्ना भाटिया की ‘सीटीमार’ शुरू

ए.चक्रवर्ती 

साउथ की बेहद नामचीन हीरोइन तमन्ना भाटिया की शुरू से ही इच्छा रही है कि वह हिंदी फिल्मों में भी अपना परचम लहराये। वर्ष 2005 में हिंदी फिल्म चांद सा रौशन चेहरा से ही तमन्ना का फिल्मी करिअर शुरू हुआ था। पर 2005 की ही तेलुगु फिल्म श्री के बाद से साउथ की फिल्मों ने उन्हें पूरी तरह से अपना लिया। पिछले दिनों उन्होंने साउथ की फिल्म सीटीमार की शूटिंग शुरू की है। यह खेल पर बेस्ड एक फिल्म है। साल 2019 में प्रभुदेवा के साथ खामोशी उनकी हिदी की आखिरी रिलीज फिल्म थी। पिछले दिनों उन्होने अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी के भाई द्वारा निर्देशित फिल्म बोले चूड़ियां की थोड़ी-बहुत शूटिंग की है। पहले इस फिल्म की हीरोइन मौनी राय थी। बहरहाल तमन्ना को अभिनेता अक्षय कुमार भी काफी सपोर्ट करते हैं। वह बताती है,‘मैं अक्षय की बहुत इज्जत करती हूं। वह अपने को-स्टार फैमिली माहौल देते हैं। मैंने साउथ में काम करने के दौरान सीखा कि सीनियर को सम्मान देने का यह एक तरीका है।’

‘डैड की दुल्हन’ से श्वेता खुश

40 की हो चुकी अभिनेत्री श्वेता तिवारी इन दिनों चैनल सोनी के फैमिली ड्रामा शो मेरे डैड की दुल्हन में खूब रंग जमा रही हैं। 2019 का यह शो लाॅकडाउन की वजह से काफी दिनों शूटिंग से दूर रहा। श्वेता इसमें एक बेहद उल्लासमयी युवती के किरदार में हैं। इसलिए वह सहज ही दर्शकों का आकर्षण अर्जित कर लेती हैं। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ से आई श्वेता बहुत कम उम्र से सीरियल कर रही हैं। उनके नाम अदालत, सजन रे झूठ मत बोलो, परवरिश, खट्टी कुछ मीठी, बाल वीर, बेगुसराय आदि हिट सीरियल हैं। इसके साथ ही उन्होने कई साल तक दूरदर्शन के हिट शो रंगोली को भी पेश किया। उन्होंने दो दर्जन से ज्यादा विभिन्न भाषओं की फिल्में भी कीं।

फिल्मों में रचे गोविंदा

अभी हाल में उन्होंने एक नए निर्देशक की फिल्म में काम करने की हामी भरी है। गोविंदा हंसकर बतातें है,‘यह रोल काफी गंभीर है। पर इसमें उनका पुराना अंदाज होगा। मैं अब अपने फैन से सिर्फ यह बतलाना चाहता हूं कि 56 की इस उम्र में भी फिल्में कर रहा हूं।’ उनकी ज्यादातर हिट फिल्मों के जनक डेविड धवन रहे है। उन्होने इस इंडस्ट्री को बहुत करीब से देखा है, इसलिए वक्त के साथ बदलते इसके रवैये को देख कर उन्हें कोई आश्चर्य नहीं होता। वह तो उनमें भी रचे-बसे हैं। वह आज अपने आपको स्टार के बजाय एक्टर मानना पसंद करते हैं। वह कहते हैं, ‘बहुत काम कर लिया, अब सिर्फ एक्टर गोविंदा के लिए काम करुंगा। हल्की-फुल्की काॅमेडी फिल्में हों तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन रोल दमदार होना चाहिए।’

एवलिन लक्ष्मी चाहती हैं भारतीय लुक

फिल्म साहो के बाद साउथ की एक और बड़ी फिल्म में अभिनेत्री एवलिन लक्ष्मी शर्मा की एंट्री हो गई है। यह फिल्म भी तमिल के अलावा दो तीन अन्य भाषाओं में बनेंगी। लगभग एक दर्जन हिंदी-अंग्रेजी फिल्मों में काम कर चुकी भारतीय मूल की जर्मनी में पली-बढ़ीं अभिनेत्री एवलिन का अपना काॅस्मेटिक प्रोडक्ट का बिजनेस है। यारियां के उनके किरदार जेनेट डिसूजा ने दर्शकों का काफी ध्यान खींचा था। सनी देओल की अरसे तक डब्बे में बंद फिल्म भैयाजी सुपरहिट से भी उनके करिअर को कुछ बूस्ट नहीं किया। माॅडलिंग से लगातार जुड़ी एवलिन किसी भी ड्रेस को आसानी से कैरी कर लेती हैं। वैसे वह साड़ी में भी दिख जाती हैं। वह बताती हैं, ‘शुरू से ही मैंने साड़ी को खास स्टाइल से पहना है। अब उनकी इच्छा है कि अपनी अगली किसी फिल्म में एकदम भारतीय लुक में दिखाई पड़े।

सुंदरबेन जेठा से सोनाक्षी को उम्मीदें

जल्द ही अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा की फिल्म भुज-द प्राइड आॅफ इंडिया ओटीटी पर दिखाई जाएगी। यह एयरफोर्स के जांबाज स्क्वाड्रन लीडर विजय कार्णिक के बायोपिक पर बेस्ड है। सोनाक्षी इसमें सुंदरबेन जेठा नामक गुजराती युवती का रोल कर रही हैं। अजय देवगन की मुख्य भूमिका से सजी इस फिल्म में अभिनेता संजय दत्त की भी अहम भूमिका है। सत्य घटनाओं पर बेस्ड इस फिल्म की शूटिंग से पहले सोनाक्षी ने खास तैयारी की। करेक्टर को एडॉप्ट करने में डन्हें जरूर कुछ वक्त लगा। पहले यह फिल्म थियेटर पर रिलीज होने वाली थी। सोनाक्षी का मानना है कि फिल्म में उनके किरदार सुंदरबेन जेठा को न सिर्फ दर्शक पसंद करेंगे, बल्कि क्रिटिक भी उनके बारे में नए ढंग से सोचने के लिए मजबूर होंगे।

पिता की राह पर आदित्य

90 के दशक के बेहद उम्दा गायक उदित नारायण ने अभी हाल में बहुत खामोशी के साथ दो नयी फिल्मों के गानों की रिकॉर्डिंग की। सीधे-सादे उदित किसी पचड़े में नहीं पड़ना चाहते। इधर, उनके बेटे आदित्य को भी आगे बढ़ने से रोका जा रहा है। अत्यंत विनम्र उदित कहते हैं, ‘मेरा क्या, फिल्मी गाने न सही मैं लगातार कुछ करता रहता हूं। लाॅकडाउन के चलते मेरे स्टेज शो बाधित हुए है। हालांकि लाॅकडाउन में भी रीजनल फिल्मों के गाने के लिए साउथ की उड़ान भरता रहा। तकलीफ तब होती है, जब उभरते प्रतिभा को भी म्यूजिक कंपनी रोकने की कोशिश करती है।’ उल्लेखनीय है कि हाल मे उनके बेटे ने खुद इसके खिलाफ बोलना शुरू किया है। आदित्य ने भी अपने पिता की तरह स्टेज शो करना शुरू कर दिया। निश्चित तौर पर चिंतित पिता ने उन्हें इसकी हिदायत दी है।

अदा शर्मा फिर विद्युत की शरण में

फिल्म इंडस्ट्री में शूटिंग की शुरुआत होने से अभिनेत्री अदा शर्मा उत्साहित हैं। हालांकि उनके पास फिल्में न के बराबर है। उनकी एक फिल्म ‘? मार्क’ घोषणा तक ही सिमट कर रह गयी। वैसे अपने 12 साल के फिल्मी करिअर में अदा बराबर कुछ न कुछ करती रही हैं। कमांडो-2 के बाद से उन्हें अच्छा मुकाम मिला था। अब सुनने को मिल रहा है कि इस फ्रेंचाइची की अगली फिल्म कमांडो-4 में विद्युत जामवाल अपनी ओटीटी पर दिखाई गई फिल्म यारा की हीरोइन श्रुति हसन को कास्ट करना चाहते हैं। इस खबर से अदा थोड़ी विचलित हैं। पिछले दिनों इसी सिलसिले में वह कुछेक बार अपने दोस्त विद्युत से मिली भी हैं। एक्टर फिल्में पाने के लिए मेल-मुलाकात करते रहते हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

दीवारें भी लगें हैप्पी

दीवारें भी लगें हैप्पी

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

कार्तिक आर्यन   हैप्पी होगा न्यू ईयर

कार्तिक आर्यन हैप्पी होगा न्यू ईयर

ऋषिना ने मेकअप रूम को बनाया मंदिर

ऋषिना ने मेकअप रूम को बनाया मंदिर

एक अपराध से उपजे अनेक सवाल

एक अपराध से उपजे अनेक सवाल

भूख का समाधान किये बिना विकास अधूरा

भूख का समाधान किये बिना विकास अधूरा

ऑटो ड्राइवर का संकल्प कि कोई भूखा न सोये

ऑटो ड्राइवर का संकल्प कि कोई भूखा न सोये

शहर

View All