सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

सुप्रीमकोर्ट ने सभी पक्षों से बृहस्पतिवार तक लिखित में मांगे जवाब

सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

नयी दिल्ली, 11 अगस्त (एजेंसियां)

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में मंगलवार को अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की केस बिहार से महाराष्ट्र ट्रांसफर करने की याचिका की सुनवाई के बाद शाम को सुप्रीमकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने सभी पक्षों से लिखित में बृहस्पतिवार तक जवाब मांगा है। इससे पहले रिया ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा अपने बेटे की आत्महत्या के सिलसिले में उसके खिलाफ दर्ज करायी गयी प्राथमिकी का पटना में किसी अपराध से कोई संबंध नहीं है। जस्टिस ऋषिकेश रॉय की एकल पीठ के समक्ष रिया की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि ऐसा लगता है कि इस मामले में राज्य का बहुत ज्यादा दखल और असर है। इसलिए इसमें दुराग्रह की आशंका है। उन्होंने इस मामले में सिलसिलेवार घटनाक्रम का जिक्र किया और कहा कि पटना में प्राथमिकी दर्ज कराने में 38 दिन से भी ज्यादा का विलंब हुआ है। उन्होंने पटना में राजपूत के पिता द्वारा दर्ज करायी गयी प्राथमिकी का जिक्र किया और कहा कि शिकायत मे लगाये गये सारे आरोपों का संबंध मुंबई से है। दीवान ने कहा कि मुंबई पुलिस ने अब तक इस मामले में 58 व्यक्तियों के बयान दर्ज किये हैं और इस मामले की जांच में काफी प्रगति हुई है।

सुनवाई के दौरान रिया के वकील ने कहा कि बिहार सरकार को सिर्फ जीरो एफआईआर दर्ज करने का अधिकार था और मुंबई पुलिस सुशांत की मौत की सभी कोणों से जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी ओर से याचिका दायर करने के बाद सीबीआई को जांच सौंपी गई। इस मामले की जांच मुंबई पुलिस को ही करनी चाहिए।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी