नहीं रहे जाने-माने साहित्यकार गोपीचंद नारंग

नहीं रहे जाने-माने साहित्यकार गोपीचंद नारंग

नयी दिल्ली, 16 जून (एजेंसी)

जाने-माने साहित्यकार गोपीचंद नारंग का निधन हो गया है। वह 91 वर्ष के थे। कुछ समय से बीमार चल रहे नारंग ने अमेरिका के उत्तरी कैरोलिना में अंतिम सांस ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफन कॉलेज से पढ़े नारंग को साहित्य अकादमी पुरस्कार और पद्म भूषण भी दिया गया।

बीबीसी के मुताबिक नारंग का जन्म 11 फरवरी, 1931 को ब्रिटिश इंडिया के दुकी में हुआ था जो अब पाकिस्तान के बलूचिस्तान में है। उर्दू में ऐसा कोई सम्मान नहीं जो उन्हें न मिला हो। कहा जाता है कि उन्हें केवल वही सम्मान नहीं मिले जिसकी ज्यूरी में वो खुद थे जिसमें ज्ञानपीठ सबसे ऊपर है। पाकिस्तान का सबसे बड़ा अवार्ड सितारा-ए इम्तियाज़ भी उन्हें मिला। गोपीचंद ने करीब 57 किताबें लिखी हैं, जिनमें हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू भाषा की किताबें शामिल हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक