चैनल चर्चा

हरगिज नहीं छोड़ें अपने सपने

हरगिज नहीं छोड़ें अपने सपने

प्रदीप सरदाना

हाल ही में ‘मिठाई’ सीरियल की शूटिंग के एक दृश्य में मैंने महसूस किया कि एक लड़की को उस समय कैसे लगता है, जब शादी के कारण उसे अपने सपने छोड़ने पड़ते हैं। मैंने उस लड़की की जगह खुद को रखकर देखा तो मैंने उस दर्द को महसूस किया। - यह कहना है अभिनेत्री देवत्तमा साहा का, जो ज़ी टीवी के सीरियल ‘मिठाई’ में नायिका मिठाई की भूमिका निभा रही हैं। सीरियल में दिखाया है कि मिठाई अपने पिता का सपना पूरा करने की चाह में मथुरा में आलू जलेबी की दुकान चलाना चाहती है, जिससे यह पारंपरिक मिठाई जारी रहे। इसके चलते वह शादी के लिए इंकार तो कर देती है लेकिन हालात कुछ और ही हो जाते हैं। देवत्तमा कहती है- ‘मेरा मानना है कि लड़कियों को शादी के लिए अपने व्यक्तिगत सपने नहीं छोड़ने चाहिए। अक्सर शादी के बाद अपने सपनों को पूरा करने में लड़कियों को बहुत दिक्कत आती है। वैसे व्यक्तिगत जीवन में मुझे अपने सपने पूरे करने के लिए मेरे माता-पिता का हमेशा सहयोग मिलता रहा।’

टीआरपी की रेस

इस बार की बार्क की टीआरपी के अनुसार, देश के टॉप 5 सीरियल में एक बार फिर स्टार प्लस के ही सीरियल्स को जगह मिली है। इन टॉप 5 सीरियल्स में पहले नंबर पर ‘अनुपमा’ बरकरार है तो दूसरे पर ‘गुम हैं किसी के प्यार में’। जबकि तीसरे और चौथे पायदान पर ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ और ‘ये हैं चाहतें’ हैं। पांचवें पायदन पर भी ‘इमली’ ने कब्जा किया हुआ है। इससे टॉप 5 में फिर से पांचों सीरियल स्टार प्लस के होने से अन्य मनोरंजन चैनलों की चुनौती और भी बढ़ गयी है। अब यह टीआरपी स्टार प्लस के अच्छे सीरियल के कारण है या इसलिए कि स्टार प्लस पर दर्शकों का पुराना भरोसा बरकरार है ? यह प्रश्न सभी चैनल्स के सामने खड़ा हुआ है। हां, इस टीआरपी में ‘द कपिल शर्मा शो’ की टॉप 20 में वापसी हो गयी है।

कहां गयी दया...

सोनी सब का सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ एक ऐसा सीरियल है, जो बरसों से दर्शकों का अच्छा मनोरंजन कर रहा है। आगामी जुलाई को इसके प्रसारण के 14 बरस पूरे हो जाएंगे। जल्द ही ‘तारक मेहता’ के 3500 एपिसोड भी पूरे हो जाएंगे। निर्माता असित कुमार मोदी अपने इस सीरियल को बेहतर बनाने के लिए मेहनत करते हैं। इस सीरियल्स के कलाकारों में भी अधिकतर का अभिनय उम्दा है। लेकिन इस शो की कहानी को लंबा खींचा जाने लगा है। एक छोटे से प्रसंग को बार-बार लंबा करने के चक्कर में फिजूल के प्रसंग डाले जाने लगे हैं। फिर सीरियल में कहानी की मुख्य पात्र दया के बरसों से गायब होना बहुत खटकता है। यह सीरियल अपने अच्छे हास्य मनोरंजन के कारण टीआरपी में ज़्यादातर टॉप 3 या टॉप 5 में रहता था। इस बार बार्क की टीआरपी में यह टॉप 10 में भी नहीं आ रहा।

‘चंडीगढ़ करे आशिक़ी’ अब टीवी पर

आयुष्मान खुराना और वाणी कपूर की चर्चित फिल्म ‘चंडीगढ़ करे आशिक़ी’ का प्रसारण अब टीवी पर होने जा रहा है। इसका टीवी प्रीमियर 28 मई को रात 8 बजे सोनी मैक्स पर होगा। फिल्म के निर्देशक अभिषेक कपूर हैं। यह फिल्म 10 दिसंबर 2021 को थिएटर पर रिलीज हुई थी। लेकिन कोविड नियमों के चलते यह देश के सभी सिनेमाघरों पर पूरी क्षमता के साथ नहीं चल सकी थी। बाद में यह ओटीटी पर भी आयी। फिल्म को लेकर दर्शकों-समीक्षकों की मिली जुली प्रतिक्रिया रही। किसी ने इसे चार स्टार दिये तो किसी ने ढाई, तीन। लेकिन फिल्म चर्चा में जरूर रही। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

शहर

View All