नाटु नाटु, नाटा हाथी ऑस्कर लाये भारत : The Dainik Tribune

नाटु नाटु, नाटा हाथी ऑस्कर लाये भारत

आरआरआर का गाना ‘सर्वश्रेष्ठ मूल गीत’ से पुरस्कृत, ‘द एलिफेंट व्हिस्परर्स’ ने वृत्तचित्र श्रेणी में जीता अकादमी अवार्ड

नाटु नाटु, नाटा हाथी ऑस्कर लाये भारत

लॉस एंजिलिस, 13 मार्च (एजेंसी)

भारतीय फिल्म ‘आरआरआर' के तेलुगु गीत ‘नाटु नाटु' ने अकादमी पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ मूल (ओरिजनल) गीत की श्रेणी में ऑस्कर जीत कर इतिहास रच दिया है, वहीं तमिल भाषा के वृत्तचित्र ‘द एलिफेंट व्हिस्परर्स' (नाटा हाथी) ने ‘डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट सब्जेक्ट' श्रेणी में भारत के लिए पहला ऑस्कर जीता।

संगीतकार एमएम कीरावानी ने कहा, ‘मैं ‘द कारपेंटर्स' (बैंड के गीत) सुनते हुए बड़ा हुआ और आज यहां ऑस्कर के साथ हूं। मेरी बस एक ही ख्वाइश थी..राजामौली और मेरे परिवार की भी.. ‘आरआरआर' जीत जाए.. सभी भारतीयों का गौरव...।' गीतकार चंद्रबोस ने केवल ‘नमस्ते' कहकर पुरस्कार पाने की खुशी जाहिर की। गौरतलब है कि डैनी बॉयल द्वारा निर्देशित ब्रिटेन की फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर' का गीत ‘जय हो' सर्वश्रेष्ठ मूल ‘स्कोर' व मूल गीत श्रेणियों में अकादमी पुरस्कार जीतने वाला पहला हिंदी गीत है। इसके संगीतकार एआर रहमान हैं और इसके बोल गुलजार के हैं।

पुरस्कार की घोषणा से पहले ‘नाटु नाटु' के गायक काल भैरव और राहुल सिप्लीगुंज ने जोरदार प्रस्तुति दी। सोने पर सुहागा यह रहा कि समारोह में भारतीय गायकों की प्रस्तुति की घोषणा बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने की। अभिनेत्री ने कहा, ‘क्या आपको पता है ‘नाटु' क्या है, अगर नहीं, तो अब पता चल जाएगा। पेश है ‘आरआरआर' से ‘नाटु नाटु'।' गीत की प्रस्तुति के लिए आयोजकों ने मंच पर गाने के सेट को दिखाने की कोशिश की। इस गीत की शूटिंग यूक्रेन की राजधानी कीव स्थित राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में हुई है। दीपिका पादुकोण यहां ‘लुई विटॉन' के काले रंग के बेहद सुंदर गाउन में नजर आईं, जिसके साथ उन्होंने एक खूबसूरत हार पहना था। वहीं फिल्म ‘आरआरआर' के मुख्य कलाकार जूनियर एनटीआर और राम चरण यहां बंद गले का काला सूट पहने नजर आए। फिल्म के निर्देशक एसएस राजामौली बैंगनी रंग का कुर्ता और पारंपरिक धोती पहने नजर आए। ‘द एलिफेंट व्हिस्परर्स' की निर्देशक कार्तिकी गोंजाल्विस और निर्माता गुनीत मोंगा ने रेड कार्पेट पर भारतीय रंग बिखेरा। मोंगा गहरे गुलाबी रंग की पारंपरिक बनारसी साड़ी पहने और गोंजाल्विस भारी कढ़ाई वाली एक ड्रेस पहने नजर आईं।

पुरस्कार किया ‘मातृभूमि' को समर्पित

पुरस्कारों के साथ (बाएं) निर्देशक कार्तिकी गोंजाल्विस और प्रोडयूसर गुनीत मोंगा। -रा

वृत्तचित्र ‘द एलिफेंट व्हिस्परर्स' की निर्देशक कार्तिकी गोंजाल्विस ने पुरस्कार स्वीकार करते हुए इसे अपनी ‘मातृभूमि भारत' को समर्पित किया। उन्होंने कहा, ‘मैं आज यहां हमारे और प्रकृति के बीच के पवित्र बंधन, मूल निवासी समुदाय के लोगों के सम्मान और अन्य जीवित प्राणियों के प्रति सहानुभूति और अंतत: सह-अस्तित्व की ओर ध्यान आकर्षित करना चाहूंगी।' गोंजाल्विस ने अकादमी, निर्माता गुनीत मोंगा, उनके परिवार का धन्यवाद भी किया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

स्वच्छ इंदौर में  रंगपंचमी की रंगत

स्वच्छ इंदौर में रंगपंचमी की रंगत

सुनो! सोनोवर

सुनो! सोनोवर

दोहों में जीवन विसंगति बांचती सतसई

दोहों में जीवन विसंगति बांचती सतसई

लोकतंत्र के काले दौर की कसक का दस्तावेज

लोकतंत्र के काले दौर की कसक का दस्तावेज

अमरता की हसरतों का हश्र

अमरता की हसरतों का हश्र