रसोई

इस त्योहार पर आम की खीर

इस त्योहार पर आम की खीर

त्योहार पर मीठे की बात न हो, ऐसा कैसे हो सकता है। फिर राखी के त्योहार पर खीर-पूड़ी की तो बात ही कुछ और है। वैसे सावन के इस महीने के त्योहार पर घेवर, बर्फी जैसी कई मिठाइयां भी खूब चलती हैं, लेकिन कोरोना के इस दौर में बाजार से ऐसी चीजें लेने में कुछ हिचक तो होती ही है। बेशक पैक्ड मिठाइयां खूब चल रही हैं, पर अगर घर में ही कुछ ऐसा बनाया जाये जिसे बच्चे पसंद भी करें और आसानी से बन जाये। तो आइये आज हम आम की खीर पर बात करते हैं। यह बनाने में तो आसान है ही, इसे बच्चे भी खूब पसंद करते हैं। त्योहार पर बच्चे खुश तो सब खुश। मिष्ठान्न का यह रूप आसान तो है ही, मौसम के हिसाब से भी है। आम आजकल खूब आ रहे हैं। जल्दी ही इनका सीजन खत्म भी हो जाएगा। मैंगो शेक तो आप लोगों ने खूब पी लिया होगा, आइये अब इसकी खीर का स्वाद चखते हैं। चूंकि आम की यह खीर खास डिश है, इसलिए इसमें चावल आदि की जरूरत नहीं, यदि आपने इसे थोड़ा ज्यादा गाढ़ा बनाना हो तो आप दूध में एक कप चावल भी पका सकते हैं। वैसे बिना चावल के भी आम की खीर बहुत पसंद की जाती है।

आवश्यक सामग्री

फूल क्रीम दूध -1 लीटर

पके आम का पल्प -2 कप

चीनी - 100 ग्राम

इलायची पिसी - 1/4 चम्मच

काजू - 10-12

बादाम - 10-12

बनाने की विधि : एक किलो फुल क्रीम दूध को एक बड़े बर्तन में रखकर उबालने के लिए गैस पर रख दीजिए। दूध जब उबलने लगे तो आंच धीमी कर दें। उसे धीरे-धीरे पकने दीजिए। इस बीच आप बादाम और काजू के छोटे-छोटे टुकड़े कर लीजिए। हो सके तो कुछ काजू के टुकड़े पीसकर दूध में डाल दीजिए। पकते-पकते एक किलो दूध जब आधा रह जाये तो उसमें कटे हुए बादाम एवं काजू डाल दीजिए। इसी दौरान इसमें इलायची पाउडर और चीनी भी मिला दीजिए। सभी चीजें अच्छे से मिक्स हो जाये तो थोड़ी देर हल्की आंच में इसे पकने दीजिए। अब इसको गैस से उतारकर ठंडा होने के लिए रख दीजिए। जब यह ठंडा हो जाये तो इसमें आम का पल्प मिला दीजिए। अच्छे से मिक्स होने के बाद इसे प्याले में रखिये। उसके ऊपर आप कुछ काजू-बादाम के टुकड़े रख सकते हैं। दिखने में सुंदर और स्वाद से भरपूर आम की इस खीर को खुद भी चखिये और औरों को भी चखाइये। यहां बता दें कि अगर आम का पल्प गाढ़ा हो तो उसे एक बार मिक्सी में चलाकर पतला कर सकते हैं।

(फीचर डेस्क)

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

किसान के बेटे की प्रेरणादायी कामयाबी

किसान के बेटे की प्रेरणादायी कामयाबी

संसदीय लोकतंत्र की गरिमा का प्रश्न

संसदीय लोकतंत्र की गरिमा का प्रश्न

मुख्य समाचार

ठीक होने वालों की दर 68.32%

ठीक होने वालों की दर 68.32%

देश में कोरोना मामले 20.88 लाख के पार। एक दिन में 61537 नये ...

ब्लैक बॉक्स मिला, जांच शुरू

ब्लैक बॉक्स मिला, जांच शुरू

कोझिकोड विमान हादसा : मृतक संख्या हुई 18, एक यात्री को था को...

भाजपा के कुछ विधायक ‘तीर्थाटन’ पर गये गुजरात

भाजपा के कुछ विधायक ‘तीर्थाटन’ पर गये गुजरात

‘बाड़ेबंदी’ करने जैसी स्थिति से पार्टी का इनकार, कहा- कांग्र...