सुशांत मामला

ईडी ने रिया के भाई से रातभर की पूछताछ, रिया और उनके पिता को कल बुलाया

ईडी ने रिया के भाई से रातभर की पूछताछ, रिया और उनके पिता को कल बुलाया

मुंबई, 9 अगस्त (एजेंसी)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित धनशोधन के मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती से करीब 18 घंटे तक पूछताछ की। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। शौविक चक्रवर्ती रातभर की पूछताछ के बाद सुबह करीब साढ़े छह बजे यहां बलार्ड एस्टेट इलाके में ईडी कार्यालय से निकला। उससे शनिवार दोपहर के करीब पूछताछ शुरू हुई थी। अधिकारियों ने बताया कि शौविक चक्रवर्ती से उसके निजी कारोबार, आय, निवेश और अपनी बहन एवं राजपूत के साथ वित्तीय सौदों को लेकर पूछताछ की गयी तथा धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत उसका बयान दर्ज किया गया। उससे 7 अगस्त को भी एजेंसी ने कुछ देर के लिए पूछताछ की थी। उसी दिन उसकी बहन और इस मामले की मुख्य आरोपी रिया से भी एजेंसी ने पहली बार करीब 8 घंटे तक पूछताछ की थी। रिया और उनके पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती को फिर सोमवार को एजेंसी के सामने पेश होने के लिए सम्मन जारी किया गया है। शुक्रवार को ईडी ने इंद्रजीत, रिया के चार्टर्ड एकाउंटेंट रितेश शाह और कारोबारी प्रबंधक श्रुति मोदी से पूछताछ की थी। श्रुति मोदी, राजपूत के लिये भी काम करती थी। समझा जाता है कि एजेंसी ने रिया से दिवंगत अभिनेता के साथ दोस्ती, कारोबारी सौदों एवं दोनों के बीच पिछले कुछ वर्षों के दौरान घटित बातों के बारे में पूछताछ की थी।

अधिकारियों ने बताया कि ईडी की पूछताछ रिया की आय, निवेश, कारोबार और पेशेवर सौदों पर केंद्रित थी। ईडी की नजर शहर के खार इलाके और नवी मुम्बई में रिया से संबंधित संपत्तियों, उनकी खरीद और स्वामित्व के स्रोत पर है। एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि ईडी रिया से उनकी आय, व्यय और निवेश के बीच कथित रूप से मिलान नहीं होने के बारे में जवाब चाहती है। उनका कहना है कि रिया ने अपनी आय करीब 14 लाख होने का जिक्र करते हुए आयकर रिटर्न फाइल किया था, लेकिन उनके निवेश का मूल्य कथित रूप से ज्यादा है। सूत्रों के अनुसार रिया ने एजेंसी को बताया कि उन्होंने अपनी आय, बचत से संपत्ति में निवेश किया है और बैंक से ऋण लिया है। रिया पर राजपूत के पिता ने उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। शुरू में रिया ने उच्चतम न्यायालय में अपनी अपील लंबित होने का हवाला देकर ईडी के सामने पेश होने से इनकार कर दिया था। उच्चतम न्यायालय में मामले पर 11 अगस्त को सुनवाई होनी है।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

जो पीड़ पराई जाणे रे

जो पीड़ पराई जाणे रे

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

शहर

View All