ब्लैक नहीं डिजिटल बोर्ड, जवाहर नवोदय विद्यालय में शुरू स्मार्ट क्लास

ब्लैक नहीं डिजिटल बोर्ड, जवाहर नवोदय विद्यालय में शुरू स्मार्ट क्लास

वाराणसी : यहां के जवाहर नवोदय विद्यालय में स्मार्ट क्लास शुरू की गयी हैं। यहां ब्लैक बोर्ड की जगह डिजिटल बोर्ड से बच्चे नये युग की पढ़ाई को सीख रहे हैं। बताया गया कि सैमसंग कंपनी ने बृहस्पतिवार को फ्लैगशिप वैश्विक नागरिकता कार्यक्रम सैमसंग स्मार्ट स्कूल शुरू किया। वाराणसी के जवाहर नवोदय विद्यालय से शुरू किया गया यह कार्यक्रम छात्रों को डिजिटल लर्निंग के अवसर प्रदान करेगा और साथ ही उनकी सीखने की क्षमताओं को भी सुधारेगा। स्कूल के शिक्षकों के इंटरैक्टिव शिक्षण के तरीकों को उन्नत बनाने के लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा। एक खास विजन के तहत विकसित ट्रांसफॉर्मेटिव इनोवेशंस के फायदे उपलब्ध करा कर भविष्य के लिए युवा नेतृत्व तैयार करना है। कक्षाओं में एक प्रिंटर, एक सर्वर पीसी, एक टैबलेट चार्जिंग स्टेशन, और पावर बैकअप होगा। कार्यक्रम के दौरान वाराणसी के जिलाधिकारी और स्कूल के पूर्व छात्र कौशल राज शर्मा, नवोदय विद्यालय समिति क्षेत्रीयकार्यालय, वाराणसी के उपायुक्त एसके महेश्वरी, सैमसंग इंडिया के उप प्रबंध निदेशक पीटर री, कॉरपोरेट सिटिजनशिप वाइस प्रेसिडेंट पार्थो घोष और जवाहर नवोदय विद्यालय, वाराणसी के प्राचार्य पीके सिंह ने नए स्मार्ट स्कूल का उद्घाटन किया। सिंह ने कहा, 'वाराणसी के दूर-दराज के इलाकों में छात्रों को डिजिटल शिक्षण में समर्थ बनाने के लिए सैमसंग द्वारा किए गए प्रयासों को देख कर हमें बहुत खुशी हो रही है। यह प्रयास डिजिटल खाई को पाटेगा।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

शहर

View All