14 को परिवार सहित गिरफ्तारी देंगे बर्खास्त 1983 पीटीआई

नई भर्ती के लिए टेस्ट का विरोध

14 को परिवार सहित गिरफ्तारी देंगे बर्खास्त 1983 पीटीआई

चंडीगढ़, 10 अगस्त (ट्रिन्यू)

नौकरी बहाली की मांग को लेकर बर्खास्त 1983 पीटीआई 14 अगस्त को परिजनों सहित सामूहिक गिरफ्तारी देंगे। सरकार नई भर्ती के लिए 23 अगस्त को टेस्ट का आयोजन करा रही है। बर्खास्त पीटीआई इसका विरोध कर रहे हैं। उनके इस फैसले का सभी शिक्षक व कर्मचारी संगठनों ने समर्थन करते हुए सामूहिक गिरफ्तारियों में शामिल होने का ऐलान कर दिया है।

हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष धर्मेंद्र पहलवान ने कहा कि सामूहिक गिरफ्तारी देने का नोटिस मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, सभी मंडलायुक्त व जिलों के डीसी को भेज दिया गया है। आंदोलन की अगली कड़ी में पीटीआई शिक्षक जनता की अदालत में जाएंगे। 18 अगस्त को सभी गांवों व शहरों एवं कस्बों में सभाएं कर जनता के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए बहाली के लिए जन समर्थन हासिल किया जाएगा। इसकी तैयारी को लेकर प्रदेश स्तर पर जोरदार अभियान शुरू कर दिया है।

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने सामूहिक गिरफ्तारियों के फैसले का समर्थन किया है। संघ प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री, महासचिव सतीश सेठी, उपमहासचिव सबिता, मुख्य संगठन सचिव धर्मबीर फौगाट, उपप्रधान जगरोशन व शीलकराम मलिक ने बताया कि 14 अगस्त को पीटीआई एवं उनके परिजनों के साथ सामूहिक गिरफ्तारियों में सभी सरकारी विभागों, बोर्ड-निगमों,यूनिवर्सिटी, निगमों, परिषदों व पालिकाओं के कर्मी शामिल होंगे।

आंदोलन को लेकर आज और कल बैठकें

बर्खास्त पीटीआई आंदोलन की तैयारियों को लेकर मंगलवार व बुधवार को सभी जिलों में कार्यकारिणी की बैठकें आयोजित करेंगे। संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष धर्मेंद्र पहलवान, पूर्व प्रधान गुरुदेव सिंह व वरिष्ठ उपाध्यक्ष वजीर सिंह गांगौली ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में झूठा शपथ-पत्र देने और कमजोर पैरवी का शिकार हुए बर्खास्त पीटीआई पिछले दो महीने से सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी