दिनभर अधिकारियों की अटकी रहीं सांसें

दिनभर अधिकारियों की अटकी रहीं सांसें

करनाल, 2 मई (हप्र)

कल्पना चावला मेडिकल कालेज के आक्सीजन टैंक का स्तर गिर जाने के कारण आज आज घंटों तक चिंता की स्थिति बनी रही।

मेडिकल कालेज प्रबंधन ने आपात स्थिति को देखते हुए पुलिस प्रशासन से मदद मांगी और बीच राह में फंसे आक्सीजन टैंकर को पुलिस गाड़ी से एस्कार्ट करके देर शाम को मेडिकल कालेज में लाया गया।

इस दौरान मेडिकल कालेज के निदेशक डाक्टर जगदीश दुरेजा, डिप्टी डायरेक्टर गौरव काम्बोज सहित अन्य अधिकारी टैंक साइट पर खड़े होकर आक्सीजन टैंकर की प्रतीक्षा करते रहे। डाक्टर जगदीश दुरेजा ने बताया कि उनके पास 10 हजार लीटर का आक्सीजन टैंक है।

इसके अलावा एमरजेंसी के लिए 560 सिलेंडरों का बैकअप भी है। उन्होंने कहा कि चिंता केवल यह थी कि गैस लेकर आ रहे टैंकर के रास्ते में लेट हो जाने के कारण मेन सप्लाई टैंक का आक्सीजन लेवल नीचे जा रहा था। उन्होंने कहा कि हमारे पास चार घंटे का एमरजेंसी बैकअप भी रहता है और 10 हजार लीटर का एक और टैंक भी कालेज में जल्दी लग जायेगा।

जानकारी के अनुसार करीब चार घंटे देरी से पहुंचे आक्सीजन टैंकर के पहिये का पानीपत के पास पेंचर हो गया था।

टैंकर के साथ करनाल पहुंचे घरौंडा थानाधिकारी बोले

टैंकर के साथ करनाल पहुंचे घरौंडा थानाधिकारी एसएचओ मोहन लाल ने बताया कि रिफाइनरी से निकलते ही टैंकर पेंचर गया था। इस बीच कालेज प्रबंधन ने प्रशासन से मदद मांगी तो पुलिस अधीक्षक द्वारा घरौंडा थाना को तुरंत टैंकर तक सहायता पहुंचाने और उसे लेकर करनाल पहुंचने के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि पेंचर लगने के बाद वह तेजी से जीटी रोड पर अन्य वाहनों को हटाते हुए टैंकर को देर सायं 7:24 बजे मेडिकल कालेज तक लेकर आये हैं। डिप्टी डायरेक्टर गौरव काम्बोज ने कहा कि प्रशासन की मदद से सब ठीक हो गया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

वैक्सीन और सावधानियों से ही रुकेगा कोविड

वैक्सीन और सावधानियों से ही रुकेगा कोविड

राजनीतिक वायरस की वैक्सीन भी जरूरी

राजनीतिक वायरस की वैक्सीन भी जरूरी

शहर

View All