झुग्गी-झोपड़ियों के बच्चों को मिलेगा आधार

झुग्गी-झोपड़ियों के बच्चों को मिलेगा आधार

करनाल, 11 मई (हप्र)

चिल्ड्रन इन स्ट्रीट सिचूएशन यानि सामाजिक परिवेश से दूर सडक़ की स्थिति में आ चुके बच्चों के पुनर्वास के लिए जिला प्रशासन ने अपनी तैयारियां प्रारम्भ कर दी हैं। इसे लेकर जल्द ही ऐसे बच्चों को मुख्य धारा में लाने के लिए स्लम या झुग्गी-झोपड़ियों में विशेष शिविर लगाए जाएंगे। इसकी शुरूआत एक छोटी स्लम बस्ती से करेंगे और उसके बाद सभी ऐसी झुग्गी-झोपडिय़ों में शिविर लगाए जाएंगे।

शिविर में आधार मशीन से बच्चों को आधार नम्बर प्रदान करने की प्रक्रिया पूरी करेंगे। पांच साल से अधिक आयु के बच्चों के आधार की त्रुटियां ठीक करवाई जाएंगी। बुधवार को उपायुक्त अनीश यादव ने लघु सचिवालय के सभागार में ऐसे अधिकारियों के साथ मीटिंग कर उन्हें निर्देश दिए जो एक मॉडल पॉलिसी के तहत पुनर्वास के काम में सक्रियता से सहयोग करेंगे।

मीटिंग में उपायुक्त ने सबसे पहले पुलिस विभाग के प्रतिनिधि को निर्देश देते कहा कि ऐसे परिवारों के खिलाफ जेजे एक्ट के अनुच्छेद 75 व 76 के तहत प्राथमिकी दर्ज करवाएं, जो अपने बच्चों से भीख मंगवाते हैं। ऐसे बच्चों की सूचना चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को भी दें।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

'अ' से आत्मनिर्भर 'ई' से ईंधन 'उ' से उपले

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

दैनिक ट्रिब्यून की अभिनव पहल

शहर

View All