परचेज सेंटरों में गेहूं की ब्रिकी रोके जाने का विरोध

परचेज सेंटरों में गेहूं की ब्रिकी रोके जाने का विरोध

करनाल, 27 फरवरी (हप्र)

हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन ने सब यार्ड या परचेज सेंटरों में गेहूं की ब्रिकी रोके जाने का विरोध किया है। प्रदेश सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर कहा कि इस बार गेहूं के सीजन मे सीमांत किसानों को सब यार्ड या परचेज सेंटरों में अपनी गेहूं बेचने की अनुमति नहीं होगी। एसोसिएशन के चेयरमैन रजनीश चौधरी ने कहा कि सभी सीमांत किसान जो कि पिछले कई वर्षों से सब यार्ड और परचेज सेंटर के आढ़तियों के साथ लेन-देन चल रहा है। इससे आढ़ती और सीमांत किसानों दोनों को ही परेशानी होगी। अगर इन सभी किसानों की गेहूं जिले की मुख्य मंडी में आ गई तो मुख्य मंडी में अधिक भीड़ होने की वजह से न तो बारदाना पूरा हो पाएगा और न ही गेहूं का उठान हो पाएगा। मुख्य मंडी में जाम की स्थिति पैदा हो जाएगी और अगर इस दौरान बरसात आ जाती है तो गेहूं भी खराब हो जाएगा। इससे किसान, आढ़ती और सरकार तीनों को को नुकसान होगा। रजनीश चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री से अनुरोध करते हैं कि सभी सब यार्ड और परचेस सैंटरों को पोर्टल पर दर्शा कर गत वर्षों की तरह ही गेहूं की खरीद की जाए ताकि किसानों की गेहूं को समय पर सरकारी गोदामों में पहुंचाया जा सके।

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!