दिल्ली कूच रोकने के लिए अधिकारियों ने बनाई योजना

दिल्ली कूच रोकने के लिए अधिकारियों ने बनाई योजना

करनाल में मंगलवार को दिल्ली कूच को रोकने के लिए किसानों के संभावित ठिकानों की पहचान करते उपायुक्त निशांत कुमार यादव व पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया। -हप्र

करनाल (हप्र) : कृषि कानूनों को लेकर किसानों द्वारा 26 नवंबर को प्रस्तावित दिल्ली कूच को देखते जिला प्रशासन भी तैयारियों में जुटा है।

मंगलवार को प्रदेश के मुख्य सचिव विजय वर्धन ने आज अधिकारियों को विडियों कांफ्रेंस से निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश के दूसरे जिलों के साथ-साथ 25 नवंबर को आंदोलनकारी किसान अम्बाला बॉर्डर, पिपली तथा करनाल में एकत्र हो सकते हैं, उन्हें दिल्ली जाने से रोकना है। इसके लिए वाटर कैनन, मजबूत बैरिकेड्स और पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 26 से पहले किसानों की हर गतिविधि पर नजर रखें और उसकी फीडबैक भी देते रहें। पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर अन्य सड़कों पर कानून व्यवस्था को न बिगड़ने दिया जाए। किसान आंदोलन को रोकने के लिए मल्टी लेयर बैरिकेड्स लगाए जाएं।

उपायुक्त करनाल निशांत कुमार यादव ने बताया कि करनाल जिला में किसानों के इकट्ठा होने के संभावित ठिकानों की पहचान कर ली गई है, किसी को भी दिल्ली जाने की इजाजत नहीं देंगे। उन्होंने बताया कि हैवी ड्यूटी बैरिकेड्स, वाटर टैंक, फायर ब्रिगेड व एम्बुलैंस की उपलब्धता बनी रहेगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अनमोल योगदान को गरिमा देने की पहल

अनमोल योगदान को गरिमा देने की पहल

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

शहर

View All