हरियाणा का वन क्षेत्र 7 से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का लक्ष्य

हरियाणा का वन क्षेत्र 7 से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का लक्ष्य

पानीपत के गांव डिकाडला मेंं सोमवार को वन मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ‘मैं और मेरा पेड़’ अभियान की शुरुआत के अवसर पर सांसद संजय भाटिया को पौधा भेंट करते हुए। - एस

पानीपत, 3 अगस्त (एस)

हरियाणा के शिक्षा, वन, पर्यटन व संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने सोमवार को कहा कि आज हम विकास करते जा रहे हैं लेकिन हमारा वन क्षेत्र लगातार घटता जा रहा है।

इसी को ध्यान में रखते हुए अब प्रदेश सरकार ने वन क्षेत्र को सात प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसके लिए 1100 गांवों को चिन्हित किया है। इन गांवों में खाली जमीन पर दो हजार से अधिक पौधे लगाने व संरक्षित करने का संकल्प लिया गया है। गुर्जर समालखा उपमंडल के गांव डिकाडला में ‘मैं और मेरा पेड़’ अभियान के शुभारंभ पर सभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सांसद संजय भाटिया भी मौजूद रहे।

कंवर पाल गुर्जर ने कहा कि सरकार ने निर्णय लिया है कि इस बार सफेदे व पाेपलर जैसे ऊंचे पेड़ों की बजाय ऐसे पौधे लगाए जाएं, जिनसे पक्ष्ाी खाने के लिए फल हासिल कर सकें और उनमें घोंसले भी बना जा सकें। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रदेश में 86 नए काॅलेज खोले गए हैं। अब तक प्रत्येक 15 किलोमीटर की दूरी पर काॅलेज खोले जा रहे थे लेकिन अब जल्द ही 10 किलोमीटर की दूरी पर काॅलेज खोलने का निर्णय लेने जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए इस समय प्रदेश के जिलों में सिर्फ 22 माॅडल संस्कृति स्कूल हैं और सरकार जल्द ही इनकी संख्या भी बढ़ाकर 98 करने जा रही है। वहीं सांसद संजय भाटिया ने कहा कि हम हर साल पेड़ लगाते हैं लेकिन इसके बावजूद वन क्षेत्र कम हो रहा है। यह दर्शाता है कि हम पौधरोपण के प्रति गंभीर नहीं हैं। उन्होंने कहा कि ‘मैं और मेरा पेड़’ अभियान आज प्रदेश सरकार ने शुरू किया है और प्रदेश में 11 लाख पेड़ लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस अवसर पर शिक्षा एवं वन मंत्री कंवर पाल गुर्जर व सांसद संजय भाटिया ने त्रिवेणी लगाई और ग्रामीणों ने गांव के स्टेडियम में 500 से अधिक पौधे लगाए।

कार्यक्रम में राज्य की प्रधान मुख्य वन संरक्षक अमरिंद्र कौर, पूर्व विधायक भरत सिंह छौक्कर, धर्मपाल जागलान, ट्रीमैन देवेंद्र सूरा, गांव की सरपंच मुकेश रानी, डा. अर्चना गुप्ता, विनोद छौक्कर, मंजीत डिकाडला, अजीत, कृष्ण छौक्कर, विनोद छौक्कर, रामभतेरी रावल, जयप्रकाश शर्मा सरपंच व अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

जो पीड़ पराई जाणे रे

जो पीड़ पराई जाणे रे

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

मुख्य समाचार

शहर

View All