28 आढ़तियों के खिलाफ एफआईआर, लाइसेंस रद्द

28 आढ़तियों के खिलाफ एफआईआर, लाइसेंस रद्द

करनाल, 13 अक्तूबर (हप्र)

घीड़ अनाज मंडी में बाहरी धान खरीद मामले में मंडी सुपरवाइजर धीरज कुमार, ऑक्शन रिकार्डर धर्मवीर सिंह, कंपयूटर आपरेटर दीपक व अंशुल तथा 28 मंडी आढ़तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

इसके अलावा इन आढ़तियों के लाइसेंस भी रद्द कर दिए गए हैं। इतना ही नहीं 18 अन्य आढ़तियों का स्टॉक कम पाए जाने पर डीएफएससी व डीएम हैफेड द्वारा संबंधित आढ़तियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि जिले की घीड़ अनाजमंडी में बाहर से धान खरीद को लेकर एक मामला संज्ञान में आया था, जिसकी तुरंत प्रभाव से जांच करवाई गई और जांच में पाया गया कि कंपयूटर आपरेटर दीपक व अंशुल तथा मंडी सुपरवाइजर धीरज कुमार व आक्शन रिकार्डर धर्मवीर की मिलीभगत से गलत ढंग से गेट पास काटे गए हैं।

इतना ही नहीं मंडी में 28 आढ़तियों के नाम रिकार्ड में तो मेंशन है, लेकिन फिजिकल तौर पर वहां कोई आढ़ती नहीं मिला। इसलिए उक्त सभी कर्मचारियों तथा मंडी आढ़तियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई गई तथा 28 आढ़तियों के लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं। इसी मामले से जुड़े 9 अन्य राइसमिलों की जांच डीएफएससी व डीएम हैफेड द्वारा की गई, जिसमें धान खरीद प्रक्रिया में उल्लंघन पाया गया। इन राइस मिलों के खिलाफ भी आवश्यक कार्रवाई अमल में लाने के निर्देश दिए गए हैं।

उपायुक्त ने एसडीएम इंद्री को निर्देश दिए कि वे निजी तौर पर घीड़ मंडी की समय-समय पर चेकिंग करते रहे। इसके अलावा ग्राम सचिव व कुंजपुरा मंडी के सचिव को निर्देश दिए कि वे मंडी में 24 घंटे तैनात रहेंगे और गतिविधियों पर कड़ी नजर रखेंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

मुख्य समाचार

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

मौसम की मार नैनीताल का संपर्क कटा। यूपी में 4 की गयी जान

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

भुखमरी सूचकांक  पाक, नेपाल से पीछे भारत